उत्तर प्रदेश राजनीति

आबादी में दुनिया के सिर्फ पांच देशों से पीछे यूपी, 80 सीटों पर होगा मुकाबला

24 जनवरी 1950 को अस्तित्व में आए उत्तरप्रदेश से उत्तराखंड 9 नवम्बर सन 2000 में अलग हुआ था, यूपी में राज्यसभा की भी सर्वाधिक 31 सीटें

खास बातें

  • उत्तर प्रदेश में कुल 14.5 करोड़ मतदाता
  • पुरुष मतदाता 7.7 करोड़ और महिला मतदाता 6.3 करोड़
  • यूपी में थर्ड जेंडर मतदाता 6,983

नई दिल्ली: दुनिया के सिर्फ पांच देशों से कम आबादी वाले उत्तरप्रदेश में लोकसभा चुनाव देश की समूची राजनीति को प्रभावित करता है. यूपी की 80 लोकसभा सीटें प्रदेश के 75 जिलों में हैं.
उत्तर प्रदेश जनसंख्या के आधार पर भारत का सबसे बड़ा राज्य है. 24 जनवरी 1950 को अस्तित्व में आए इस राज्य की राजधानी लखनऊ है और हाईकोर्ट प्रयागराज में है. संसद ने 9 नवम्बर सन् 2000 में उत्तर प्रदेश के उत्तर पश्चिमी पहाड़ी भाग को अलग करके उत्तराखंड राज्य का निर्माण किया. उत्तर प्रदेश का अधिकतर हिस्सा सघन आबादी वाला है. यह राज्य 2,40,928 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है. उत्तर प्रदेश में 18 संभाग हैं और 75 जिले हैं. साढ़े तीन सौ तहसीलों वाले इस प्रदेश में 56 विश्वविद्यालय हैं.

प्रदेश के प्रमुख शहरों में आगरा, अलीगढ़, अयोध्या, कानपुर, झांसी, बरेली, मेरठ, वाराणसी, गोरखपुर, मथुरा, मुरादाबाद, आजमगढ़, बहराइच, देवरिया बांदा, हमीरपुर, जालौन, महोबा, ललितपुर,सीतापुर, लखीमपुर खीरी, गाजियाबाद, अलीगढ़, सुल्तानपुर, नोएडा, मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर तथा श्रावस्ती शामिल हैं. राज्य के उत्तर में उत्तराखंड तथा हिमाचल प्रदेश, पश्चिम में हरियाणा, दिल्ली तथा राजस्थान, दक्षिण में मध्यप्रदेश तथा छत्तीसगढ़ और पूर्व में बिहार तथा झारखंड राज्य स्थित हैं. राज्य की पूर्वोत्तर दिशा में नेपाल है.

उत्तर प्रदेश की आबादी करीब 20 करोड़ है. दुनिया के केवल पांच देश चीन, भारत, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका, इंडोनेशिया और ब्राजील ऐसे राष्ट्र हैं जिनकी जनसंख्या उत्तरप्रदेश की जनसंख्या से अधिक है. प्रदेश में 14.5 करोड़ मतदाता हैं. इनमें पुरुष मतदाता 7.7 करोड़, महिला मतदाता 6.3 करोड़ और थर्ड जेंडर मतदाता 6,983 शामिल हैं.
उत्तर प्रदेश के राजनीतिक दलों में राष्ट्रीय पार्टियां भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी), कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीआई), भारतीय साम्यवादी पार्टी (सीपीआई-एम) शामिल हैं. राज्य स्तरीय पार्टियां समाजवादी पार्टी (एसपी) और राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) हैं. इसके अलावा इस प्रदेश में कई छोटे क्षेत्रीय दल भी हैं. बसपा की मायावती, समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव, आरएलडी के अजीत सिंह इस राज्य के प्रमुख नेता हैं.

यूपी में लोकसभा सदस्यों की संख्या 80 और राज्यसभा सदस्यों की संख्या 31 है. उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 63 सामान्य वर्ग की और 17 आरक्षित वर्गों के लिए हैं. यहां की विधानसभा में सदस्यों की संख्या 404 और विधान परिषद सदस्यों की संख्या 100 है.