80 करोड़ की लागत से बनने वाला फ्लाई ओवर ब्रिज झाँसी नगर का पहला पुल होगा जो 7 वर्षों बाद पूरा..

80 करोड़ ₹ की लागत से बनने वाला फ्लाई ओवर ब्रिज झाँसी नगर का पहला पुल होगा जो 7 वर्षों बाद पूरा होगा। उत्तर प्रदेश में सपा शासन काल में प्रस्तावित यह पुल 7 वर्षों बाद भाजपा शासन काल में पूर्ण होने की संभावना है।

आपको बता दें कि ₹ 80 करोड़ की लागत से बनने वाले इस पुल में ₹ 27 करोड़ रेलवे का लगा होगा जिसे रेलवे ने बिना गाड़ियां रोके 15 मीटर ऊंचाई तक पुल का निर्माण कार्य जारी रखा है।

सेतु निर्माण विभाग द्वारा निर्माण किया जा रहा लगभग 1 किलोमीटर लम्बा यह पुल कुल 32 पिलर पर बना होगा जिसमें रेलवे लाइन के ऊपर बने पुल के 4 डबल पिलर अलग होंगे।

यह भी पढ़ें – चौरी-चौरा काण्ड क्या है आइए इस बारें में जानें

झाँसी की शांतिप्रिय जनता ने इस पुल निर्माण के दौरान लगभग 6 वर्षों से अधिक बिना सर्विस रोड के बड़े बड़े गड्ढों से अपने वाहन निकालकर बहादुरी का परिचय तो दिया ही साथ ही साथ कई संगठनों ने सर्विस रोड बनवाने के लिए भी

काफी संघर्ष किये हैं, लेकिन कुछ भी हो यह पुल बनने के बाद सीपरी बाजार क्षेत्र में होने वाले जैम से मुक्ति तो मिल सकती है लेकिन वहीं सीपरी बाजार के व्यापारियों को व्यापार में नुकसान का सामना भी करना पड़ेगा। रेलवे डी.आर.एम.

यह भी पढ़ें – किसान आंदोलन पर मिया खलीफा ने किया ट्वीट, सोशल मीडिया पर हुई ट्रोल

पी.आर.ओ. श्री मनोज कुमार सिंह ने हमारे झाँसी संवाददाता को बताया कि इस पुल के निर्माण में सेतु विभाग एवं रेलवे इंजीनियरिंग विभाग ने मानक अनुसार इस पुल में उच्चतम क्वालिटी का सीमेंट,लोहा एवं केमिकल इस्तेमाल

किया गया है, साथ ही पुल निर्माण के बाद नियमानुसार 28 दिन की स्टैंडर्ड टेस्टिंग के बाद ही इस पुल से आम जनता एवं वाहनों को आवागमन के लिए खोला जाएगा।

यह भी पढ़ें – अमेरिका ने कहा, चीन पड़ोसी देशों को धमकाने से बाज आए

khelo aor jeeto | bundelkhand news quiz | lucky draw contest





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: