उत्तर प्रदेश मथुरा

नगरवासियों ने मथुरा पुलिस पर लगया अवेध बसूली करने का आरोप

मथुरा: जिला मथुरा को अभी नगर-निगम बने लगभग कुछ ही माह ही बीते होंगे। नगर-निगम बनते ही मथुरा जो भगवान श्री कृष्ण की जन्मस्थान भी कहलाता है, उसमें रोनक ही नजर आती है।

मथुरा की रोनक व्यापारी वर्ग आओर पुलिस के बीच दिन दुने रात चोगने होने लगी। इस दौरान कई वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आए और गए। लेकिन वर्त्तमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नए मौजूदा भमके की नींद उड़ा दी। मरता क्या नहीं करता पुलिस महकमा व्यापारी वर्ग से हाथ मिला लिया।

अपराध भड़ने लगे और गिरफ्तारी के नाम पर अबैध वसूली बना ली। कप्तान को जब इस बात का पता चला उन्होंने टांस्फर कर ईमानदार अधिकारियों को सही पोस्टिंग करनी प्रारम्भ कर दी। बेचारे कप्तान जी को मालुम नहीं था की थाना गोविन्द नगर के इंस्पेक्टर साहब इन सबके पिताजी निकलेंगे। थाना गोविन्द नगर के अंतर्गत 5 स्टार से ३ स्टार होटल एवं अन्य छोटे छोटे होटल और गेस्ट हाउस आते हैं।

उनका सबसे बड़ा अपराध लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकारों को अपने जूते के नोक पर रखकर बात करने लगे। शायद उनको यह नहीं मालूम की चौथे स्तंभ की बेज्जती कितनी बारी पड़ने वाली हैं।

इंस्पेक्टर गौतम थाना गोविन्द नगर ने बड़े व छोटे होटल एवं गेस्ट हाउस से रिश्वत लेनी शुरू कर दी। थाने में कई बड़े ट्रांसपोर्टर उनको लाखो की महीनेदारी देने लगे। सटा व्यापारी एवं मैच बुकी भी मोटी रकम थाना पहुंचाते हैं। बाकायदा इसकी छानबीन हो मौजूदा कप्तान तुरंत एक्शन ले, जभी थाना गोविन्द नगर की जनता सुकून की साँस ले सके।

Leave a Reply