उत्तर प्रदेश जालौन

प्रमाणपत्र जारी न होने को लेकर धनगर समाज उतरा शासन व प्रशासन के विरोध में

० कलैक्ट्रेट परिसर में की धरना-सभा

उरई (जालौन)।(गोविंद सिंह दाऊ):-. धनगर समाज को जाति प्रमाणपत्र जारी न किये जाने को लेकर आज सोमवार को धनगर (पाल समाज) के सैकडों लोगों ने कलैक्ट्रेट पहुंच कर शासन व प्रशासन के विरोध में धरना सभा कर चेतावनी तक दे डाली कि अगर उन्हें प्रमाणपत्र जारी नहीं किया जाता है तो इसका परिणाम आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को भुगतना पड़ सकता है।
धरना सभा को सम्बोधित करते हुए श्रीराम पाल धनगर राष्ट्रीय अध्यक्ष पाल धनगर महासभा ने कहा कि समाज कल्याण अनुभाग-3 लखनऊ से 24 जनवरी 2019 को जारी कराकर पिछले करीब 7 शासनादेशों में जो कमियां व अस्पष्टता थी उनको दूर कराते हुए. स्पष्टीकरण आदेश जारी कराया गया परंतु इस साफ सुथरे और आदेश का भी अनुपालन राजस्व विभाग के अधिकारी. नहीं करा रहे है। जिनकी मानसिकता सरकार विरोधी है जबकि धनगर समाज इस स्पष्टीकरण आदेश का अनुपालन होने तथा धनगर प्रमाणपत्र जारी न होने पर समाज में सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है।उन्होंने कहा कि धनगर समाज ने कई ज्ञापन देकर धनगर जाति प्रमाणपत्र जारी करने कराने का अनुरोध भी कर चुका है। सभा को सम्बोधित करते हुए आर. डी. पाल व युवा जिलाध्यक्ष मुकेश पाल मुसमरिया आदि ने कहा कि जनपद जालौन में धनगर समाज का प्रशासन द्वारा सर्वे भी कराया जा चुका है और परिवार रजिस्टर में धनगर जाति दर्ज है फिर भी तहसीलदार मौखिक रूप से अधीनस्थ राजस्व कर्मचारियों से आवेदन पत्रों पर गलत रिपोर्ट लगाकर आवेदन निरस्त कर रहे है।जिससे लगता है कि अधिकारियों की मानसिकता सरकार विरोधी होने धनगर समाज में आक्रोश पनपता जा रहा है यही बजह है आज धनगर समाज को धरना सभा करने के लिए मजबूर होना पड़ा है।
इस मौके पर प्रमुख रूप से करन सिंह पाल, कल्यान सिंह, जागेश्वर धनगर, वीरसिंह बघेल धनगर, थसराम सिंह बघेल, नंदराम पाल, सुखपाल सिंह धनगर, आशीष पाल धनगर जिला सचिव, उदयप्रताप धनगर जिला उपाध्यक्ष सहित आदि लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र पाल धनगर ने की। धरना सभा के बाद मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को भेट किया।