सार

बिजली का बिल जमा करने के लिए 10 दिन पूर्व डॉक्टर के पास टोल फ्री नंबर से कॉल आया। फोन करने वाले ने कहा कि जल्दी से ऑनलाइन बिल जमा करिए नहीं तो आपकी बिजली काट दी जाएगी। एक बार उन्होंने बिल जमा किया और फिर जालसाजों ने उनसे 10 बार में अलग-अलग खातों में कुल सात लाख 60 हजार रुपये मंगा लिए।

ख़बर सुनें

गोरखपुर में बिजली काटने की धौंस देकर बुजुर्ग डॉक्टर से सात लाख 60 हजार रुपये की जालसाजी का मामला सामने आया है। शुक्रवार को पीड़ित डॉ. मुखर्जी ने एसएसपी से मुलाकात कर प्रार्थनापत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है। एसएसपी के आदेश पर साइबर टीम जांच शुरू कर दी है। इस तरह का यह पहला मामला सामने आया है।

जानकारी के मुताबिक, शाहपुर इलाके के असुरन गीता वाटिका के पास के रहने वाले 70 वर्षीय बुजुर्ग डॉ. मुखर्जी शुक्रवार दोपहर एसएसपी दफ्तर पहुंचे। उन्होंने प्रार्थना पत्र देकर बताया कि उनके साथ साइबर ठगी हुई है। बताया कि बिजली का बिल जमा करने के लिए 10 दिन पूर्व उनके पास टोल फ्री नंबर से कॉल आया। फोन करने वाले ने कहा कि जल्दी से ऑनलाइन बिल जमा करिए नहीं तो आपकी बिजली काट दी जाएगी।

डॉ. मुखर्जी ने बताया कि एक बार उन्होंने बिल जमा किया और फिर जालसाजों ने उनसे 10 बार में अलग-अलग खातों में कुल सात लाख 60 हजार रुपये मंगा लिए। बाद में जब वे बिजली दफ्तर जानकारी करने गए तो पता चला कि बिल जमा ही नहीं हुआ है।

एसएसपी डॉ. विपिन ताड़ा ने उन्हें साइबर सेल भेजा और पुलिसकर्मियों को जल्द से जल्द रुपये वापस कराने की कार्रवाई शुरू करने का निर्देश दिया।

विस्तार

गोरखपुर में बिजली काटने की धौंस देकर बुजुर्ग डॉक्टर से सात लाख 60 हजार रुपये की जालसाजी का मामला सामने आया है। शुक्रवार को पीड़ित डॉ. मुखर्जी ने एसएसपी से मुलाकात कर प्रार्थनापत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है। एसएसपी के आदेश पर साइबर टीम जांच शुरू कर दी है। इस तरह का यह पहला मामला सामने आया है।

जानकारी के मुताबिक, शाहपुर इलाके के असुरन गीता वाटिका के पास के रहने वाले 70 वर्षीय बुजुर्ग डॉ. मुखर्जी शुक्रवार दोपहर एसएसपी दफ्तर पहुंचे। उन्होंने प्रार्थना पत्र देकर बताया कि उनके साथ साइबर ठगी हुई है। बताया कि बिजली का बिल जमा करने के लिए 10 दिन पूर्व उनके पास टोल फ्री नंबर से कॉल आया। फोन करने वाले ने कहा कि जल्दी से ऑनलाइन बिल जमा करिए नहीं तो आपकी बिजली काट दी जाएगी।

डॉ. मुखर्जी ने बताया कि एक बार उन्होंने बिल जमा किया और फिर जालसाजों ने उनसे 10 बार में अलग-अलग खातों में कुल सात लाख 60 हजार रुपये मंगा लिए। बाद में जब वे बिजली दफ्तर जानकारी करने गए तो पता चला कि बिल जमा ही नहीं हुआ है।

एसएसपी डॉ. विपिन ताड़ा ने उन्हें साइबर सेल भेजा और पुलिसकर्मियों को जल्द से जल्द रुपये वापस कराने की कार्रवाई शुरू करने का निर्देश दिया।



Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: