उत्तर प्रदेश जालौन

भगवती मानव कल्याण संगठन ने शुरू किया अनिश्चित कालीन धरना

० खनन माफियाओं से मिलकर थानाध्यक्ष द्वारा फर्जी मुकदमा दर्ज करने का आरोप

उरई (जालौन)।(गोविंद सिंह दाऊ):- भगवती मानव कल्याण संगठन ने खनन माफियाओं से मिलकर थानाध्यक्ष डकोर द्वारा मारपीट व लूटपाट करने का फर्जी मुकदमा दर्ज किये जाने को लेकर जिलाधिकारी गेट के सामने अनिश्चित कालीन धरना शुरू कर दिया। उक्त लोगों का कहना है कि मामले की जांच करवा कर दोषी थानाध्यक्ष के खिलाफ कार्यवाही की मांग उठाई है।
धरना सभा को प्रमुख रूप से संगठन के प्रांतीय अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह, रामकरन सिंह, सीमा उत्तम प्रांतीय सचिव, सोनीयोग भारती संगठन मंत्री, चन्द्रकुमार द्विवेदी संगठन मंत्री, गिरजा अवस्थी प्रांतीय महासचिव आदि ने सम्बोधित करते हुए कहा कि थानाध्यक्ष डकोर विनोद कुमार मिश्रा ने सोची समझी साजिश के तहत जबरन लाल सिंह से कहा कि अपने भाई जुझार सिंह को तुरंत फोन करके बुलाओ। पुलिस बल के दबाव में आकर लालसिंह ने अपने भाई जुझार सिंह को बताया कि मैं मुसीबत में फंस गया हूँ उस समय जुझार सिंह
उरई में अपनी दुकान चला रहा था। खबर मिलते ही जैसे ही जुझार सिंह आ रहा था तभी रास्ते में थानाध्यक्ष ने जुझार सिंह, लालसिंह व कुलदीप को पकड़ कर थाने ले आये और फर्जी धारायें लगाकर जेल भेज दिया। वक्ताओं का कहना है कि बालू माफियाओं द्वारा बहुत बड़ी धनराशि क्षेत्रीय पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों तक पहुंचाई जाती है एवं ग्राम ऐर प्रधान द्वारा प्रशासनिक पेश बंदी की गयी है कि प्रशासनिक. अधिकारियों के कानों तक पीडित जन मानस की आवाज नहीं पहुंच पा रही है। वक्ताओं का कहना है कि डकोर पुलिस द्वारा गम्भीर घृणित घटना की गयी है।इसके बाद पीड़ित जूझार सिंह और उसकी पत्नी व छोटे-छोटे बच्चे दरदर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर है।संगठन के लोगों ने पुलिस अधीक्षक मांग की है कि मामले की जांच करवा कर दोषी लोगों के खिलाफ कार्यवाही की जाये।अनशन की जानकारी मिलते ही क्षेत्राधिकारी संतोष कुमार व कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मौके पर पहुंचे और धरना प्रर्दशन पर बैठे लोगों से बात कर मामले की जांच करवाये जाने का आश्वासन दिया।

Leave a Reply