इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तारी से बचने की मांग में दाखिल महोबा के निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर..

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तारी से बचने की मांग में दाखिल महोबा के निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी है।

यह भी पढ़ें – महोबा : आखिरकार जिन्दगी की जंग हार गया 30 फीट गहरे बोरवेल में गिरा मासूम

यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीत कुमार ने मणिलाल पाटीदार के अधिवक्ता और राज्य सरकार की ओर से अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल व अपर शासकीय अधिवक्ता को सुनकर दिया है।

निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार के खिलाफ पीपी पांडेय इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के निदेशक नितीश कुमार ने महोबा कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई है कि एसपी मणिलाल पाटीदार व तत्कालीन थानाध्यक्ष खरेला राजू सिंह और चरखारी के तत्कालीन इंस्पेक्टर राकेश कुमार सरोज मिलकर उसकी गाड़ियां नहीं चलने दे रहे हैं। उसकी कंपनी ट्रकों से गिट्टी सप्लाई का काम करती है।

यह भी पढ़ें – बाँदा : आरटीओ कार्यालय समेत जिले भर के सरकारी कार्यालयों में छापा

इस काम के लिए उससे दो लाख रुपये प्रतिमाह एसपी को देने की मांग की जा रही है। ऐसा न करने पर उसके दर्जनों ट्रक सीज कर दिए गए। जबकि ट्रकों के सभी कागजात सही थे और वे ओवरलोड भी नहीं थे।

राज्य सरकार से की ओर से अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल ने अर्जी का विरोध किया। उन्होंने कहा कि मणिलाल पाटीदार पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया जा चुका है और उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी है। इसके अलावा उसे भगोड़ा भी घोषित किया गया है।

ऐसे में वह अग्रिम जमानत का हकदार नहीं है। सुनवाई के बाद कोर्ट ने मणिलाल पाटीदार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी।

यह भी पढ़ें – एसपी मणिलाल पाटीदार को जाना ही होगा जेल

यह भी पढ़ें – वेब सीरीज आश्रम: हिंदुओं की आस्था पर आघात

यह भी पढ़ें – बांदा में रोडवेज बस और आटो में भिड़न्त, छह की मौत





Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: