बुधवार को अपने ही खेत में खेलते खेलते चार वर्षीय बालक बोरवेल में जा गिरा, सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासनिक अमला मौके पर..

ओपेन्द्र गोस्वामी,

बुधवार को अपने ही खेत में खेलते खेलते चार वर्षीय बालक बोरवेल में जा गिरा। सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंच गया है एवं बच्चे को सकुशल वापस निकालने की मशक्कत शुरु हो गई है।

विकास खण्ड जैतपुर के निकटवर्ती ग्राम बुधौरा का किसान भागीरथ कुशवाहा अपने परिवार के साथ खेत पर गेहूं की फसल में पानी लगा रहा था. खेत में ही एक ओर भागीरथ का चार वर्षीय बेटा  घनेन्द्र खेल रहा था . घनेन्द्र जिस जगह खेल रहा था उसके पास ही बोरवेल खुदा हुआ था। घनेन्द्र खेलते खेलते अनजाने में बोरवेल में जा गिरा।

यह भी पढ़ें – कांग्रेस ने सिंधिया को लेकर कसा तंज, भाजपा के संकल्प पत्र को बताया झूठ का पुलिंदा

जब भागीरथ और उसकी पत्नी पानी लगाकर फ्री हुए तो उन्होंने खेत में घनेन्द्र को खोजा लेकिन उसका पता नहीं चला। खोजते खोजते जब वे बोरवेल के पास पहुंचे तो बेटे की आवाज सुनकर दंग रह गए।

भागीरथ ने इसकी सूचना पास के खेतों में काम कर रहे किसानों को दी । तभी एक ने पुलिस को फोन कर दिया। जानकारी लगते ही पुलिस चैकी बेलाताल। कुलपहाड से उपजिलाधिकारी  मोहम्मद अवेश , सामु.स्वा. केन्द्र बेलाताल के चिकित्सक एवं अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।

यह भी पढ़ें  बुन्देलखण्ड वासियों को राहत, इन तीन ट्रेनोें की अवधि बढ़ाई, जल्दी देखिये

फायर स्टेशन की गाडी ,एम्बुलेंस भी मौके पर पहुंच गई है, जेसीबी मशीन आदि को मौके पर मंगाया गया है, उक्त बोर 9 इंच का है। घनेन्द्र कितनी गहराई में फंसा है इसका अंदाजा नहीं लग सका है। समाचार लिखे जाने तक जेसीबी मशीन से खुदाई शुरु हो गई है। भागीरथ की दो बेटियां हैं जिसमें एक बेटी रेखा 6 वर्ष और एक छोटी बहन भी है और यह घनेन्द्र अपने माता पिता का एकलौता पुत्र हैं।





Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: