देवोत्थान एकादशी के दिन से हिन्दू धर्म मे विवाह आदि शुभ कार्याे का होना आरम्भ हो जाता है और अगर यही शुभ कार्य…

देवोत्थान एकादशी के दिन से हिन्दू धर्म मे विवाह आदि शुभ कार्याे का होना आरम्भ हो जाता है और अगर यही शुभ कार्य पुलिस करे तो शायद सुनने में अजीब लगे। पर हमेशा सुर्खियों में रहने वाली महोबा पुलिस ने ऐसा ही कारनामा कर दिया जिसकी चारो ओर प्रशंसा हो रही है। दरअसल महोबा में पुलिस शरण में पहुंचे प्रेमी प्रेमिका के परिजनों को राजी कर विवाह संपन्न कराया। पहले लड़की पक्ष शादी को तैयार नही हो रहा था। लेकिन पुलिस की कार्रवाई से अब दोनों पक्षों में खुशी की लहर है। 

यह भी पढ़ें – रानीपुर वन्य जीव विहार के बाघ की दहाड से महिलाओं में, एक गिरकर बेहोश

बता दें बीते सप्ताह मध्यप्रदेश के छतरपुर जिला स्थित महाराजपुर कस्बे का रहने वाले चमन चौरसिया का महोबा  शहर कोतवाली क्षेत्र के इमली बरा मुहल्ले की रहने वाली नीलम चौरसिया प्रेम प्रसंग में चल रहा था। नीलम के परिवार वाले दोनों की शादी के लिए तैयार नहीं हो रहे थे। बालिग नीलम शादी ना होने से नाराज होकर अपने प्रेमी चमन के साथ चली गई और कोर्ट में शादी कर ली।

यह भी पढ़ें – 66 करोड़ की लागत से बन रहे अटल आवासीय विद्यालय में मिली खामियां, डीएम ने दिए उच्च स्तरीय जांच के आदेश

नाराज नीलम के परिजनों सुभाष चौकी मैं शिकायती पत्र देकर कार्यवाही की मांग की । तहरीर के आधार पर पुलिस ने दोनों पक्षों को सुभाष चौकी बुलाया और दोनो दस्तावेजो में बालिग होने के कारण आपस में समझौता करा दिया। सुभाष चौकी स्थित मंदिर में वर वधु ने एक दूसरे को वरमाला पहनाई । शादी के बाद दोनों पक्षों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाई। पुलिस की इस कार्यवाही से क्षेत्र में प्रशंसा हो रही है।

यह भी पढ़ें – खेती में अभिरूचि व बुन्देलखण्ड मेें जलवायु परिवर्तन के कारण पलायन शुरू हुआःरामकेश निषाद





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: