उत्तर प्रदेश जालौन

वर्तमान भाजपा सांसद के कार्यपद्धति से संघठन मजबूत

0 बसपा को मात देने हेतु गैर दलों के लोगों ने रचा कुचक्र
0 भाजप टिकट बदलाव की कार्यकर्ताओं ने की मांग

उरई (जालौन)।(गोविंद सिंह दाऊ):- जालौन गरौठा-भोगनीपुर संसदीय क्षेत्र से सपा-बसपा गठबंधन से तथा उक्त सीट बसपा के खाते में जाने के कारण उक्त सीट का दोनो दलों का वोट अगर एक जुट होकर जाता है तो संभवता सीट बसपा जीत सकती है। इसी कारण उक्त दल से टिकट पाने की होड़ लगी है।
गौरतलब हो कि वर्तमान में जालौन गरौठा-भोगनीपुर लोकसभा सीट से भाजपा दल से भानु प्रताप वर्मा जीते थे। जीत का कारण मोदी लहर थी। अगर मतदाताओं की माने तो उनके कहना है कि वर्तमान सांसद की कार्यपद्धति तथा संसदीय क्षेत्र की जनता के बीच में न रहकर ऐ.सी होटलों में रहकर एशोआराम करना आम जनता में रोष व्याप्त है आने वाले लोकसभा चुनाव में वर्तमान सांसद को जबाव देने के लिये तैयार है। जिससे गठबंधन को लाभ मिलने के आसार है। इधर सपा-बसपा के गठबंधन से बपसा के खाते में सीट जाने के कारण बसपा पार्टी में सभी दलो के लोगों की निगाहे लगी है जो कुचक्र रचना शुरु कर दिया है। अगर बसपा पार्टी के ठोस सूत्रों की माने तो उनका कहना है कि गैर दल के दिग्गज नेता ने बपसा को मात देने हेतु कई दमी प्रत्याशियों को धनबल से टिकट मांगने हेतु प्रेरित कर रहे है। कांग्रेस पार्टी से अभी प्रत्याशियों के आवेदन मांगे गये है जिसमें कई आवेदन पार्टी कार्यालय में सौपे गये है जिसमें अंतिम मोहर लगनी बाकी है। सत्ता दल भाजपा के जमीनी कार्यकर्ताओं की माने तो उनका कहना है कि अगर टिकट पार्टी चेंज करती है तो भले ही भाजपा की जीत की संभावना हो सकती है अन्यथा कि स्थित में भाजपा का ग्राफ बहुत अच्छा नही होगा। इतना ही नही उक्त सीट से छोटे-छोटे दलों के प्रत्याशी भी अपनी किस्मत अजमानें से नही चूकेगें। जिससे भाजपा का नुकसान होगा।

Leave a Reply