कालपी-कदौरा मार्ग निर्माण आखिर कब

० टूटा पड़ा कालपी-कदौरा मार्ग व पुल

उरई (जालौन)(.गोविंद सिंह दाऊ):- सरकारी सरक्षण न मिलने के कारण कालपी नगर से जुड़ें ग्रामीण सम्पर्क मार्गो का वजूद ही मिटता चला जा रहा है। फलस्वरूप ग्रामीणों का लम्बी दूरी का चक्कर काटकर सफर करने के लिये मजबूर होना पड़ रहा है।
ज्ञात हो की कालपी से हमीरपुर के लिए आने-जाने के लिये कालपी-कदौरा मार्ग सीधा बना हुआ था। कालपी के मुख्य बाजार टरननगंज में आलीशान कदौरा फाटक के नीचे से होकर सड़क निकली थी। जो आलमपुर, रेलवे पुल, धमना, लमसर से लेकर सीधे कदौरा पहुचती थी। बताते है की सरकारी सरंक्षण न मिलने से आलीशान कदौरा फाटक टूटकर जमीदोज हो गया है तथा कई लोगो ने अवैध कब्जे कर लिये।
इसके बाद जगह-जगह सड़क क्षतिग्रस्त हो गई। कालपी-धमना के बीच में एक पक्की पुलिया टूट गई है। फलस्वरूप छोटे वाहन तक नहीं निकल पाते है। रास्ते से केवल पैदल राहगीर या चरवाहे ही निकलते है। सीधा रोड क्षतिग्रस्त हों जाने से क्षेत्रीय नागरिको को जोल्हूपुर मोड़ होकर यात्रा करने को मजबूर होना पड़ता है। दूसरे समय तथा धन बर्बाद होता है। धमना गांव के प्रधान प्रतिनिधि शिवबालक सिंह यादव ने बताया की अगर कालपी का कदौरा रोड सीधा बन जाये तो आवागमन की दूरी बहुत कम हो जायेगा। कई गाँवो के लोगो को फायदा मिलेगा। दिलचस्प बात ये है कि क्षेत्र के माननीयो तथा सूबे के मंत्रियो ने भी इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाये।
जनहित में प्रदेश सरकार तथा जिला प्रशासन से मांग है कि कालपी-कदौरा की सड़क का मरमम्ती करण तथा निर्माण कराया जाये। ताकि जनता लाभान्वित हो सके। इस सम्बंध में क्षेत्रीय विधायक नरेंद्र सिंह जादौन ने कहा जल्द ही उच्च अधिकारियो से बात कर इसकी प्रकिया जल्द शुरू करबा दी जायेगी।

× How can I help you?