सरकार की आवारा गौ वंश को सुरक्षीत स्थान पर रखने की मंशा अब परवान चढ़ती नज़र आ रही है।

इटावा:- जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे के निर्देशन में उपजिलाधिकारी सदर सिद्धार्थ के नेतृव में जल्दी ही इटावा आवारा गौ वंश के आतंक से मुक्त हो जाएगा । इसकी शुरुआत हो चुकी है बढ़पुरा से जहा जनपद की पहली गौशाला का शुभारम्भ किया गया । इस गौशाला का शुभारंभ जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने उपजिलाधिकारी सिद्धार्थ की उपस्थिति में किया। शुभारंभ के मौके पर प्रशासन के कई आला अधिकारी मौजूद रहे। ग्रामीणों ने इस अवसर पर बताया कि आवारा गौवंश उनकी फसल को नुकसान पहुंचा रहे थे जिसकी बजह से उनको रात रात भर जाग कर फसल की निगरानी करनी पड़ती थी लेकिन अब गौशाला के शुरू हो जाने से उनको काफी राहत मिलेगी। गौशाला के शुभारंभ के मौके पर ही खेतो में विचरण कर रही 25 आवारा गायों को गौशाला पहुंचा दिया गया। उपजिलाधिकारी सिद्धार्थ ने बताया कि ये गौशाला 1000 गौवंश की क्षमता की बनाई गई है। उन्होंने निर्देश दिये कि जल्दी ही इलाके में विचरण करने वाले सभी आवारा गौवंश को गौशाला पहुंचा दिया जाए जिससे स्थानीय किसानों की फसल को नुकसान न हो । उन्होंने बताया कि जल्दी ही अन्य गौशालाओ को भी शुरू करा दिया जाएगा। बसरेहर क्षेत्र की परौली रामायन गौशाला का निर्माणकार्य भी अपने अंतिम चरण में है और इसको भी जल्दी शुरू कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

WhatsApp chat