आयुष्मान लाभार्थियों को उपचार के मामले में जालौन प्रदेश में 14वें स्थान पर



उरई (जालौन)(रिपोर्ट-गोविंद सिंह दाऊ):- स्टेट हेल्थ एजेंसी लखनऊ द्वारा सितंबर में जारी सूची में जनपद के कुल पंजीकृत 14 अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी को समुचित उपचार दिलाने में प्रदेश के 75 जनपदों में जालौन को 14 वां स्थान प्राप्त हुआ है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अल्पना बरतारिया ने योजना के अंतर्गत पंजीकृत सभी अस्पतालों के चिकित्सा अधीक्षकों और निजी अस्पतालों के निदेशकों को जिला कार्यक्रम क्रियान्वयन इकाई की टीम के साथ सामंजस्य बनाते हुए सभी लाभार्थी मरीजों को समुचित उपचार योजना के अंतर्गत निशुल्क सेवा देने के लिए निर्देशित किया है। जालौन बुंदेलखंड में प्रथम
बुंदेलखंड के सात जनपदों की सूची में जालौन प्रथम स्थान पर है। प्रधानमंत्री जन आरोग्यक योजना (आयुष्मान भारत) के जिला समन्वयक डा. आशीष कुमार झा ने बताया कि जिले में योजना से कुल दस अस्पताल सम्बद्ध हैं इसके अलावा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कुठौंद और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र डकोर पंजीकरण प्रक्रिया में है। इसके अलावा चार निजी अस्पतालों में योजना के अंतर्गत लाभार्थियों का इलाज किया जा रहा है। पांच और निजी अस्पतालों के पंजीकरण करने का काम जिलाधिकारी के निर्देश पर चल रहा है। जिन अस्पतालों ने पंजीकरण के लिए आवेदन किए है, उनका सर्वेक्षण के बाद पंजीकरण कर दिया जाएगा।
अगस्त के बाद बढ़ी गोल्डन कार्ड बनाने की रफ्तार
जनपद के कुल 105042 लाभार्थी परिवारों में अब तक 32844 परिवारों के गोल्डनकार्ड बनाए जा चुके है। कोरोना संक्रमण के चलते अप्रैल से जुलाई तक एक हजार कार्ड भी नही बने थे लेकिन अगस्त माह से गोल्डन कार्ड की फिर रफ्तार बढ़ी है। अगस्त माह में 400 गोल्डनकार्ड बने थे। जबकि सितंबर में केवल दस दिनों में एक हजार गोल्डनकार्ड बनाए जा चुके है। सीएचसी के सभी चिकित्सा अधीक्षक गोद लिए गांवों में तेजी से गोल्डनकार्ड बनवा रहे है।

इंसेट–
जनपद में आयुष्मान योजना पर एक नजर
उरई। कुल लाभार्थी-105042
कुल बने गोल्डनकार्ड-84728
लाभार्थी परिवारों के गोल्डन कार्ड-33120 कोरोना लाभार्थी मरीज का उपचार हुआ-5201
जिसकी धनराशि-5 करोड़ रुपये
क्लेम भुगतान की गई राशि-3.9 करोड़ पहुंच गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

× How can I help you?