उरई (जालौन)(रिपोर्ट-गोविंद सिंह दाऊ):-जनपद में प्रायः देखा जा रहा है कि कोविड-19 से ग्रसित मरीज के सम्पर्क में आये व्यक्ति एवं कोविड-19 के लक्षण (जुकाम, बुखार, कफ, सांस लेने में परेशानी) युक्त व्यक्ति चिकित्सा इकाई में सम्पर्क नहीं करते है, न ही कोरोना की जाँच करवाते है। बीमारी बढ जाने के पश्चात कोविड-19 की जाँच कराने चिकित्सा इकाई पर आते है, जिससे इलाज करने में परेशानी होती है। अतः समस्त नगरवासियों से जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से अपील की जाती है कि कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में जो भी व्यक्ति आता है वह एवं बुखार, खांसी, गले में दर्द एवं सांस लेने में तकलीफ वाले व्यक्ति निकट की चिकित्सा इकाई पर जाकर कोविड-19 की जांच करा लें, जिससे संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। कोविड-19 की जाँच एवं उपचार में देरी जानलेवा हो सकती है। सभीजनपदवासियों से सहयोग की अपेक्षा की जाती है।