सरकार की मण्डी शुल्क में दोहरी नीति का विरोध जताया

उरई (जालौन)(रिपोर्ट-गोविंद सिंह दाऊ):- उरई गल्ला ब्यापार सेवा समिति के अध्यक्ष प्रदीप महेश्वरी के नेतृत्व में अजय कुमार गुप्ता, बृजकिशोर राजपूत, राजेंद्र सिपोलिया, देवेंद्र कुमार, राजेंद्र कुमार राजपूत, मनोज कालपी, रवीन्द्र सिंह करमेर, देवेंद्र कुमार बीजापुर, आशीष सेठ जैसारी, छोटे इटौदिया, अरविंद चिकासी, अजय लिखोटिया, रामप्रकाश खरका, उदय सिंह टिमरों आदि ब्यापारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन भेंट किया। गल्ला मण्डी अध्यक्ष प्रदीप माहेश्वरी ने ज्ञापन के माध्यम से बताया है कि भारत सरकार द्वारा
एक देश में एक कानून के तहत मण्डियों के मण्डी शुल्क में छूट दी गयी है और मण्डियों के अंदर 2,1,2 प्रतिशत मण्डी शुल्क लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि मण्डियां किसानों के हितों के लिए बनाई गयी थी न कि सरकार की कमाई का जरिया अगर मण्डियों के अंदर शुल्क लिया जाता है तो बाहर भी लगना चाहिए अगर छूट है तो दोनों जगह समान होना चाहिए। उन्होंने बताया कि मण्डियों के बंद होने की स्थिति में लाखों ब्यापारी उनके सहायक एवं कर्मचारी बेरोजगार होफौख जायेंगेऋ साथ ही करोड़ों मजदूरों के पास कोई काम नहीं रह पायेगा। ब्यापारियों ने मुख्यमंत्री से राहत पहुंचाने की मांग की है।