मिट्टी खनन माफिया मनमानी तरीके से खुदाई कर रहे हैं ग्राम टिमरो में

मिट्टी खनन माफिया मनमानी तरीके से खुदाई कर रहे हैं ग्राम टिमरो में

उरई (जालौन)(गोविंद दाऊ):-। विकासखंड डकोर के ग्राम टिमरो में खुलेआम प्रशासन की नाक के नीचे हो रहा अवैध मिट्टी खनन ,ग्रामवासीओ को दिन भर ट्रकों की आवाजाही से दुर्घटना होने का डर सता रहा है। लेकिन खनन माफियाओं का भय दुर्घटना के भय से बड़ा है इसलिए कोई ग्रामवासी माफियाओं की शिकायत करने से कतरा रहा है।
मामला जनपद के ब्लाक डकोर के अंतर्गत आने वाले ग्राम टिमरो का है। जहां कुछ खनन माफिया मिट्टी के खनन का काम कर रहे हैं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खनन माफियाओं ने गांव के कुछ लोगों के ₹100 के स्टांप पर हस्ताक्षर करवाकर लगभग 3 एकड़ से ज्यादा की जमीन को बंधक बना लिया है और उसमें धड़ल्ले से मिट्टी का खनन कर रहे हैं।जबकि उक्त स्थान की ना तो कोई नाप की गई है और ना ही संबंधित अधिकारी ने मौके पर जाकर इसका निरीक्षण किया। गांव बालो की माने तो सभी काम कागजो पर किये जा चुके है।जब इसका विरोध गांव के लोगो द्वारा किया गया तो उसमें से एक युवक को फर्जी मुकदमे में फंसाकर बंद करा दिया गया जिसके बाद गांव से उठ रही विरोध की आवाजे आना बंद हो गई और खनन माफियाओं की चांदी कटनी शुरू हो गयी। माफियाओ को किसी का भी डर नहीं है शासन और प्रशासन मौन है या फिर सभी बिंदुओं को जानने के बाद भी पूरे मामले पर चुप्पी साधे हुए हैं । शासन और प्रशासन का मौन रहना माफियाओं से उनकी मिलीभगत की ओर इशारा कर रहा है ।गांव के लोगों ने जब मिट्टी खनन की शिकायत लेखपाल से की तो उसने गांव वालों को कार्यवाही का आश्वासन देकर लौटा दिया।खनन का काम जोरों से चल रहा है लोड ट्रक दिन रात गांव की गलियों से गुजर रहे हैं लोगों को डर बना रहता है कि कभी किसी गांव वाले या उनके बच्चों के साथ दुर्घटना ना हो जाए। लेकिन खनन माफियाओं के आगे सब बेबस नजर आ रहे हैं गांव के लोगों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि साहब जब शासन प्रशासन ने इनके आगे घुटने टेक दिए हैं तो हमारी मिशाल ही क्या है। गांव में फिलहाल माफियाओं के कारण दहशत का माहौल है और लोग अपनी विवशता किसी से नहीं कह पा रहे है।