उरई। हिंदुस्तान संवाद

पंचायत चुनाव को लेकर आयोग लगातार तैयारियों में जुटा हुआ है। जिले में वोटर लिस्ट का अन्तिम प्रकाशन किया जा चुका है वही मतदाताओं की संख्या के आधार पर पंचायत चुनाव के लिए 1846 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। पिछले चुनाव की अपेक्षा इस बार 129 बूथों की बढ़ोतरी की गई है। अब इसमें कोई परिवर्तन नहीं होगा।

25 दिसंबर को पंचायतों का कार्यकाल समाप्त होने के बाद चुनाव आयोग लगातार जल्दी से जल्दी चुनाव कराने की तैयारियों में जुटा है। कयास लगाए जा रहे हैं कि 31 मार्च के पहले चुनाव हो जाएंगे। उसको देखते हुए वोटर लिस्ट को बनाने के साथ ही वार्डों के परिसीमन व पोलिंग बूथों के निर्धारण का काम एक साथ चल रहा था। उसको देखते हुए पंचस्थानीय चुनाव कार्यालय द्वारा इस बार 1846 पोलिंग बूथों का निर्धारण किया है। 400 से लेकर आठ सौ मतदाताओं पर एक मतदेय स्थल बनाया गया है। पिछली बार पोलिंग बूथों की संख्या 1717 थी। इस बार 129 पोलिंग बूथ बढ़े गए है। इस बार एक अक्टूबर से चलाए गए मतदाता पुरीक्षण अभियान में जिले में एक लाख 63 हजार 944 वोट बढ़ाए गए हैं जबकि 77 हजार छह सौ नाम काटे गए हैं। कुल मिलाकर पिछले चुनाव कि अपेक्षा 80 हजार के करीब मतदाता अभी तक बढ़े हैं और कुल मतदाताओं की संख्या दस लाख 69 हजार 843 हो गई है। अब सिर्फ सीट के आरक्षण की प्रक्रिया शेष रह गई है इसके बाद कभी भी पंचायत चुनाव के लिएक कार्यक्रम घोषित हो सकता है। अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार सिंह का कहना है कि अब बूथों में कोई परिवर्तन नहीं होगा।



Source link