नई दिल्ली: कांग्रेस ने कोरोना वैक्सीन देश के 135 करोड़ लोगों के लिए मुफ्त दिए जाने समेत इसकी सभी लोगों के लिए उपलब्धता जैसे मुद्दे उठाकर जल्द से जल्द वैक्सीन दिए जाने की मांग की. इस पर बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने कांग्रेस पर लोगों को गुमराह करने और वैक्सीन को लेकर राजनीति करने और भ्रम फैलाने का आरोप लगाते हुए पलटवार किया है.

कांग्रेस द्वारा उठाये जा रहे सवालों और वैक्सीन कार्यक्रम को प्रचार के लिए इस्तेमाल किए जाने के आरोपों का जवाब देते हुए बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस यह पचा नहीं पा रही कि किस तरह से मोदी सरकार के नेतृत्व में भारत कोरोना से लड़ाई में अग्रणी पंक्ति में खड़ा है. कांग्रेस अगर वैक्सीन को लेकर भ्रम नहीं फ़ैलाती, लोगों में आशंका पैदा नहीं करती तो सरकार को इस तरह के प्रचार की जरूरत ही नहीं पड़ती.

राकेश सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस लोगों को गुमराह करने की बातें कर रही है और ऐसी बातें कर रही है, जिससे कि लोगों में अराजकता का माहौल बने. खुद नेहरू जी और इंदिरा जी ने भी चेचक और हैजा को लेकर लोगों को बढ़-चढ़कर बताया था और रही बात पोलियो कि तो देश के मौजूदा स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने इस में एक अहम भूमिका निभाई थी.

बीजेपी सांसद ने कहा कि कांग्रेस देश के लिए महत्वपूर्ण स्वास्थ्य मुद्दे पर भी असंवेदनशील राजनीति कर रही है. कांग्रेस पहले कह रही थी कि वैक्सीन नहीं है फिर जब वैक्सीन आई तो उसको लेकर सवाल उठाए और अब यह सवाल उठा रही है कि कब कितने लोगों को वैक्सीन मिलेगी. कांग्रेस को इन सब बातों को लेकर चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश के 82 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज भी मिला है और जब वैक्सीन की बारी आएगी तो सरकार उनके हित का पूरा ध्यान रखेगी.

राकेश सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस के पास कोई मुद्दा रहा नहीं है इसी वजह से इस तरह के सवाल उठा रही है और आरोपों की राजनीति कर रही है. अभी शुरुआत में तो 3 करोड़ लोगों को वैक्सीन मुफ्त दी ही जा रही है और कांग्रेस अभी से भ्रम पैदा करने लगी है, जबकि बाकी आबादी को वैक्सीन कैसे दी जाएगी इसको लेकर अभी भी फैसला होना बाकी है. कांग्रेस को एक रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभानी चाहिए नकारात्मक विपक्ष की नहीं.

रेलवे में भ्रष्टाचार को लेकर सीबीआई की कार्रवाई, उत्तर पूर्व फ्रंटियर रेलवे के सीनियर अफसर को हिरासत में लिया 



Source link