उरई। सडक सुरक्षा समिति की बैठक बुधवार को कलैक्टेªट सभागार में हुयी इसमें सडक सुरक्षा से सम्बन्धित योजनाओं पर बिन्दुवार समीक्षा की गयी ।
कालपी नगर पंचायत से आलमपुर बाईपास चैराहे से होकर अन्दर तक के मार्ग पर जो कालपी ओवरब्रिज का निर्माण कार्य जारी होने के चलते भारी वाहनों का इस मार्ग से आवागमन क्षतिग्रस्त कारक साबित हुआ है। इसको अतिशीघ्र ठीक कराने और फुट ओवरब्रिज बनाने में कालपी के प्रवेश मार्ग पर झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की प्रतिमा स्थापित करने के लिये विचार विमर्श किया गया ।
जिलाधिकारी ने पिरौना से कालपी के बीच के कटों को समाप्त करने हेतु एनएचएआई को निर्देश दिये। जनपद की जिन सडको में सांकेतिक चिन्हांे की आवश्यकता है उनको चिन्हित कर कार्य कराये जाये। एनएचएआई के प्रतिनिधि ने बताया कि पेट्रोल टैंक के मालिकों द्वारा गैर कानूनी तरीके से टैंक बनवाये गये है उनके मालिक को नोटिस जारी किये जायेगें और अगर उनके मालिकों ने पुनः कट किये तो उनके विरूद्व मुकदमा दर्ज कराया जायेगा।
जनपद के जिन स्थानों पर सडक में सांकेतिक चिन्हों की जरूरत है वहां सांकेतिक चिन्ह लगाने एवं जजी के पास के पटेल चैक चैराहे के सर्किल को कम करने, जिला परिषद से चुर्खी वाईपास तक मार्ग का चैडीकरण करने और जालौन कांेच मार्ग पर सांकेतिक चिन्ह लगाने के लिये लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया गया ।
बैठक में पुलिस अधीक्षक , मुख्य विकास अधिकारी डा0 अभय कुमार श्रीवास्तव , मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ऊषा सिंह , जिला विद्यालय निरीक्षक भगवत पटेल , बेसिक शिक्षा अधिकारी पे्रमचन्द्र , उपाधीक्षक पुलिस सदर सन्तोष कुमार , एआरटीओ प्रशासन व प्रवर्तन , सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक रोडवेज, लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता , उरई नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी , एनएचएआई के प्रतिनिधि और बस / ट्रक आपरेटर एसोशियेसन और स्कूल प्रबंधन के सदस्यों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही ।





Source link