मुंबई: अयोध्या (Ayodhya) में भव्य राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के लिए धन संचय अभियान की शुरुआत हो चुकी है, जिसमें तमाम लोग अपनी क्षमता के अनुसार दान कर रहे हैं. इसी कड़ी में अब बॉलिवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार (Akshay Kumar) का नाम भी जुड़ गया है. रविवार को उन्होंने सोशल मीडिया (Social Media) पर एक वीडियो शेयर करते हुए इसकी जानकारी अपने फैन्स के साथ साझा की है.

उन्होंने वीडियो के कैप्शन में लिखा, ‘बहुत खुशी की बात है कि अयोध्या में हमारे श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है. अब योगदान की बारी हमारी है. मैंने शुरुआत कर दी है, उम्मीद है आप भी साथ जुड़ेंगे. जय सियाराम.’ वहीं, अपने वीडियो मैसेज में अक्षय कुमार ने एक किस्से का जिक्र किया है, जिसमें वो अपनी बेटी को रामसेतू निर्माण के दौरान की एक कहानी सुना रहे हैं. 

अक्षय कुमार ने याद दिलाया गिलहरी का योगदान

उन्होंने कहा, ‘जब एक तरफ वानरों की सेना थी और दूसरी तरफ थी लंका. और दोनों के बीच में महासमंदर. अब वानर सेना बड़े-बड़े पत्‍थर उठाकर समंदर में डाल रही थी, राम सेतु का निर्माण कर सीता मैया को वापस जो लाना था. प्रभु श्रीराम किनारे पर खड़े सबकुछ देख रहे थे, तभी उनकी नजर पड़ी एक गिलहरी पर. गिलहरी जो थी, वो पानी पर जाती फिर किनारे पर आती, रेत में लोट जाती थी फिर राम सेतु के पत्‍थरों की ओर फिर भागती, फिर से पानी में जाती, फिर रेत में, फिर पत्‍थरों पर. रामजी को आश्‍चर्य हुआ कि यह हो क्‍या रहा है. वह गिलहरी के पास गए, पूछा- तुम कर क्या रही हो? गिलहरी ने जवाब दिया- मैं अपने शरीर को गीला करती हूं, उस पर रेत लपेट देती हूं और पत्‍थरों के बीच की जो दरारें हैं, उसको भरती हूं. राम सेतु के निर्माण में मैं भी अपना छोटा सा योगदान दे रही हूं.’

ये भी पढ़ें:- Akshay Kumar ने रोमांटिक फोटो संग पत्नी Twinkle Khanna के लिए लिखी इमोशनल बात

अब हमारी बारी है- सभी योगदान जरूर करें

अक्षय ने अपने मैसेज में आगे कहा, ‘आज बारी हमारी है. अयोध्‍या में हमारे श्रीराम के भव्‍य मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है. हम में से कुछ वानर बनें, कुछ गिलहरियां बनें और अपनी-अपनी क्षमता के अनुसार योगदान देकर ऐतिहासिक भव्‍य राम मंदिर बनाने में साझेदार बनें. मैं खुद इसकी शुरुआत करता हूं, मुझे विश्‍वास है कि आप भी मेरे साथ जुड़ेंगे ताकि आने वाली पीढ़ियों को इस भव्‍य मंदिर से मर्यादा पुरुषोत्‍तम राम के जीवन और संदेश पर चलने की प्रेरणा मिलती रहे. जय श्री राम’

ये भी पढ़ें:- Akshara Singh ने जब लजाते हुए कहा ‘करी ना बलम जी मनमानी’, देखिए VIDEO

राष्ट्रपति ने की थी अभियान की शुरुआत

बताते चलें कि इस अभियान की शुरुआत 14 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने की थी. उन्होंने राम मंदिर के लिए सबसे पहले 5 लाख रुपये का चंदा दिया था और अभियान को हरी झंडी दिखाई थी. राष्ट्रपति कोविंद ने चेक के माध्यम से ये धनराशि चंदा ट्रस्ट को सौंपी थी. इसके बाद से लेकर अब तक कई राज्यों के सीमए, सांसद, कारोबारी से लेकर आम आदमी तक अपनी क्षमता के अनुसार भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए चंदा दे रहा है.

VIDEO-





Source link