दबंग पूर्व प्रधान द्वारा झूठे आरोप फंसाये जाने का आरोप
चारागाह की भूमि करोड़ों रुपये कृषि उपज ले चुका पूर्व प्रधान

उरई (जालौन)(गोविन्द सिंह दाऊ):- कालपी तहसील क्षेत्र की ग्राम सभा देवपुरा के ग्रामीणों तुलसीराम पूर्व प्रधान, देवसिंह, रामअवतार, सुन्दर लाल, अरविंद कुमार, राजेंद्र कुमार, रमाशंकर, दीपक, अंकित कुमार, रामकृपाल, विश्राम, लालूप्रसाद, नरेश आदि ने आज शुक्रवार को कलेक्ट्रेट पहुंच कर जिलाधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारी को देते हुए आरोप लगाया कि पूर्व प्रधान रामस्वरूप जो 1985 में प्रधान निर्वाचित हुआ था जिसने गांव सभा को प्लाट एवं आवास आवंटित किये जिनमें जमकर धांधली की गयी और परिवार को बढ़ावा दिया गया। जिसकी बजह से गरीब और गांव सभा के लोगों को आज भी समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।ग्रामीणों का आरोप है कि गाटा संख्या 388 व 389 जो भूमि चारागाह के लिए सरकार द्वारा आवंटित हुई थी उक्त भूमि पर पूर्व प्रधान रामस्वरूप 1985 से आज तक करोड़ों रुपये की कृषि उपज ले चुका है जो आज भी जारी है। ग्रामीणों का कहना है कि जब-जब गांव सभा विरोध किया तो गांव के लोगों को झूठे मुकदमे लगाकर फंसाया गया साथ ही धमकी दी गयी जिसने चारागाह के खिलाफ आवाज उठाई तो उसे जान से मारने की धमकी पूर्व प्रधान रामस्वरूप देता रहता है। ग्रामीणों का आरोप है कि गांव सभा का चुनाव जब भी आता है तो चुनाव के दौरान 20-25 लोगों के खिलाफ कार्यवाही करवा देता है जिससे गांव में अराजकता फैलती है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी के नाम सम्बोधित ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारी को देते हुए पूर्व दबंग प्रधान पर कानूनी कार्यवाही किये जाने की मांग उठाई है।