सऊदी अरब ने 20 देशों के नागरिकों को  17 मई तक के लिए देश में प्रवेश देने पर बैन लगा दिया है. इन 20 देशों में भारत भी शामिल है. ऐसे में इस साल हज यात्रा करने वाले भारतीय यात्रियों को भी निराशा हाथ लग सकती है. साल 2020 में कोरोना वायरस महामारी की वजह से हज यात्रा स्थगित कर दी गई थी.

ऐसे में उम्मीद जताई गई थी कि साल 2021 में हज यात्री सऊदी अरब जाकर हज कर सकेंगे. लेकिन अब उनकी उम्मीदों पर पानी फिरता हुआ दिख रहा है. मुस्लिम समुदाय के लिए हज फर्ज होता है. हर मुस्लिम शख्स ने जीवन में एक बार हज पर जाने की तमन्ना रखता है. हर साल बड़ी तादाद में भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और इंडोनेशिया से मुसलमान हज की यात्रा पर जाते हैं.

सऊदी ऑथोरिटी ने अब तक नहीं लिया फैसला

हर साल करीब 2 लाख भारतीय हज के लिए सऊदी अरब स्थित मक्का-मदीना जाते हैं. इस साल अब तक सऊदी ऑथोरिटी की तरफ से हज यात्रियों के लिए कोई फैसला नहीं लिया गया है. यहां तक कि अब तक प्री सिलेक्शन प्रोसेस भी शुरू नहीं किया गया है. बता दें कि 10 फरवरी को इंडियन डिप्लोमेट्स और सऊदी ऑथोरिटी के बीच हज यात्रियों को लेकर बातचीत होनी है लेकिन अब तक इस संबंध में कोई बड़ी जानकारी सामने नहीं आई है.

इस साल हज यात्रियों की संख्या में दिखेगी कमी 

सूत्रों के मुताबिक, इस साल हज करने जाने वाले यात्रियों की संख्या में कमी देखने को मिल सकती है. हालांकि, अभी ये स्पष्ट नहीं हो सका है कि कितने यात्री हज करने के लिए मक्का-मदीना जाने वाले हैं. हज कमेटी के मुताबिक, अगर सऊदी भारतीय हज यात्रियों को परमिशन दे भी देता है तो भी इस बार हज यात्रियों की संख्या में कमी देखने को मिलेगी. गौरतलब है कि इस साल हज को जुलाई के महीने में शेड्यूल किया गया है.

ये भी पढ़ें 

पाकिस्तान: ‘चाइल्ड पॉर्नोग्राफी’ गिरोह से जुड़े होने के आरोप में दो गिरफ्तार

Viral Video: कोविड-19 से 9 महीने की लंबी जंग जीतने के बाद 4 वर्षीय मासूम को अस्पताल से मिली शानदार विदाई



Source link