पाकिस्तान में सोशल मीडिया पर इन दिनों एक सवाल जमकर पूछा जा रहा है. सवाल ये है कि क्या पाकिस्तान की पूर्व पीएम बेनजीर भुट्टो की बेटी बख्तावर भुट्टो जरदारी ने अपनी शादी के जोड़ में हीरे और सोने का इस्तेमाल किया था?अब डिजाइनर वर्दा सलीम ने बुधवार को बख्तावर भुट्टो-जरदारी की शादी के पोशाक में बहुत कीमती हीरे, सोने की अटकलों पर विराम लगा दिया. उन्होंने बीबीसी उर्दू से कहा, “न तो हमने दुल्हन के ड्रेस पर सोने के तार का इस्तेमाल किया और न ही हमने उसे हीरे से जड़ा.”

बख्तावर जरदारी के ब्राइडल ड्रेस की अटकलों पर लगा विराम

सलीम ने बताया कि उनका ब्रांड दुल्हन के ड्रेस के लिए सबसे आकर्षक डिजाइन का इस्तेमाल करता है. उन्होंने खुलासा किया कि बख्तावर का दुल्हन वाले पोशाक में पाकिस्तान के स्थानीय बाजारों से सबसे उच्च गुणवत्ता और खास सामग्री को शामिल किया गया. सलीम ने कहा कि बख्तावर का शिफॉन स्थानीय स्तर पर हाथों से बनाया गया था.

उन्होंने कहा, “ब्रांड के तौर पर हम दुल्हन के ड्रेस के लिए पाकिस्तान में मिलनेवाली बेहतरीन स्थानीय सामग्री का इस्तेमाल करते हैं.” जब उनसे पूछा गया कि क्या बख्तावर की शादी के लिए ड्रेस का डिजाइन तैयार करते वक्त नर्वस थीं, सलीम ने जवाब दिया ये सच नहीं है. उन्होंने आगे बताया, “आप बिना दबाव के उत्साही कह सकते हैं. टीम को ड्रेस पर काम करते हुए आनंद आया ये जानकर कि बख्तावर को उनके ब्रांड पर कितना आत्मविश्वास था.”

45 शिल्पकारों की मदद से लिबास की तैयारी में  7 महीने लगे 

सलीम ने बख्तावर को किसी ब्रांड के लिए ‘आदर्श दुल्हन’ करार दिया. उन्होंने जानकारी दी कि दोनों के बीच ड्रेस के बारे में चर्चा करने के लिए मुलाकात हुई थी और शुरुआती मुलाकात में बख्तावर ने उनकी प्रतिभा पर शक का इजहार नहीं किया. सलीम ने स्पष्ट किया कि ड्रेस की डिजाइनिंग तय करते वक्त बख्तावर ने कभी नहीं उनके काम में दखलअंदाजी की. डिजाइनर ने खुलासा किया कि बख्तावर की शादी के ड्रेस पर काम में 45 शिल्पकारों को लगाया गया. ब्राइडल ड्रेस की तैयारी में उन्होंने 7 हजार घंटे समय बिताया. डिजाइनर का कहना है कि बख्तावर के ब्राइडल ड्रेस को बनाने में 7 महीने लगे.

Twitter ने किया ऐलान, 2024 का चुनाव लड़ने पर भी डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट रहेगा बैन

दक्षिण प्रशांत महासागर में भूकंप के चलते सुनामी की पुष्टि, न्यूजीलैंड में अलर्ट जारी



Source link