नई दिल्ली: भारत में अब तक 66 लाख से ज्यादा को वैक्सीन दी जा चुकी है. ऐसा करने में भारत को बाकी देशों के तुलना में काफी कम वक्त लगा है. वहीं दुनिया के बाकी देशों के मुकाबले हालात काफी बेहतर है. वहीं इस टीकाकरण में कुछ राज्य काफी आगे तो कुछ काफी पीछे है. कुछ राज्यों में 65% से ज्यादा लाभार्थियों का टीकाकरण हो चुका है तो वहीं कुछ राज्यों में 40% भी नहीं हो पाया है.

भारत में 12 ऐसे राज्य हैं, जहां 65 फीसदी से ज्यादा हैल्थ केयर वर्करों को टीका लग चुका है. ये राज्य हैं बिहार, त्रिपुरा, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, ओड़िशा, मिज़ोरम, उत्तर प्रदेश, अंडमान निकोबार, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और केरल. इन राज्यों मे बिहार में सबसे ज्यादा टीकाकरण हुआ है.

बिहार में 78.1%, त्रिपुरा में 77.1%, मध्यप्रदेश में 76%, उत्तराखंड में 73.7%, ओड़िशा में 72.4%, मिज़ोरम में 69.9%, हिमाचल प्रदेश में 68.7%, उत्तर प्रदेश में 68.2%, अंडमान निकोबार में 67.9%, राजस्थान में 67.3% और केरल में 66.9% और लक्ष्वदीप में 66.7% हैल्थ केयर वर्कर को टीका लग चुका है.

11 राज्यों में 40 फीसदी से कम टीकाकरण
वहीं 11 ऐसे राज्य और केंद्र शासित प्रदेश है जहां 40 फीसदी से कम लाभार्थियों को कोरोना का टीका लगा है. ये राज्य हैं- दिल्ली, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, पंजाब, दादरा नगर और हवेली, चंडीगढ़, तमिलनाडु, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, और पुदुचेरी. स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी में मुताबिक दिल्ली में 38.9%, जम्मू और कश्मीर में 37.5%, लद्दाख में 35.8%, पंजाब में 34.1%, दादरा नगर और हवेली में 34.5%, चंडीगढ़ में 28.7%, तमिलनाडु में 28.4%, मेघालय में 24.3%, नागालैंड में 21.5%, मणिपुर में 21.3%, और पुदुचेरी में 15.4% लाभर्तियों को कोरोना वैक्सीन लगी है.

टीकाकरण में भारत सबसे आगे
भारत में 60 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका लग चुका है. महज 24 दिनों देशभर में 6 मिलियन लाभार्थियों का टीकाकरण हो चुका है और इतनी तेजी से टीकाकरण करने वाला भारत पहला देश है. ऐसा करने में अमेरिका को 26 दिन लगे जबकि ब्रिटेन को 46 दिन.

वहीं राज्य सरकारों को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सलाह दी है कि cowin के जरिये ऐप हेल्थकेयर वर्कर को वैक्सीन के लिए बुलाया जाए. 20 फरवरी तक हेल्थकेयर वर्कर को दे दिया जाए पहला डोज. जो रह गए है उनको मोप अप राउंड 24 फरवरी तक दे दिया जाए. उसी तरह 1 मार्च तक फ्रंट लाइन वर्कर को दे दिया जाए और जो रह जाएंगे उन्हें 6मार्च को मोप अप राउंड तक दे दिया जाए. इन हैल्थ केयर वर्कर और फ्रंट लाइन वर्कर को इस तारीख तक वैक्सीन की पहली डोज़ मिल जाए.

दस लाख लोगों में 7860 लोग संक्रमित
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, भारत में 1.08 करोड़ लोगों को कोरोना संक्रमण हुआ और अभी 1.43 लाख एक्टिव केस है. भारत में प्रति दस लाख आबादी में 7860 लोगों को संक्रमण हुआ जबकि 112 लोगों की प्रति दस लाख आबादी में कोरोना से मौत हुई.

भारत में 143,625 एक्टिव केस हैं जिसमें से सबसे ज्यादा एक्टिव केस दो राज्यों में है. ये दो राज्य है केरल और महाराष्ट्र. कुल एक्टिव केस का 71 फीसदी एक्टिव केस इन दोनों राज्यओं में है. जहां केरल में 45.72 फीसदी और महाराष्ट्र में 25.06 फीसदी केस है. इसके अलावा मृत्यु दर में गिरावट दर्ज की जा रही है. वहीं कोरोना की जांच के लिए 20.2 करोड़ सैंपल टेस्ट किए जा चुके है.

ये भी पढ़ें-
सरकार के आदेश पर ट्विटर का जवाब, नियमों का उल्लंघन करने वाले 500 अकाउंट हमेशा के लिए बंद किए

लाल किला हिंसा: दीप सिद्धू के बाद अब इकबाल सिंह भी गिरफ्तार, 50 हजार का था इनाम



Source link