कालपी। वाणिज्य विभाग के अधिकारियों ने नगर के व्यापारियों के साथ शिविर लगाकर जीएसटी के बारे में जानकारी देकर उन्हें जागरूक किया तथा मौजूद व्यापारियों से अपने संस्थान की जीएसटी जमा करने की बात कही। इस दौरान बड़ी संख्या में नगर के प्रमुख व्यापारी मौजूद रहे।नगर पालिका परिषद कालपी के सभागार में आयोजित वाणिज्य कर उरई के शिविर में झांसी मंडल झांसी के डिप्टी कमिश्नर प्रवीण क्षेत्रीय सहायक कमिश्नर भरत लाल एवं वाणिज्य अधिकारी अफजाल हुसैन तथा प्रधान सहायक सुरेश शरण निगम, प्रधान सहायक देवीशरण समेत अधिकारियों की मौजूदगी में डिप्टी कमिश्नरों ने मौजूद व्यापारियों को निर्देश देते हुए कहा कि व्यापारियों को संस्थान चलाने के लिए संस्थान का पंजीकरण कराना अति आवश्यक है तभी वह अपने संस्था का संचालन सही तरीके से कर पाएंगे। उन्होंने व्यापार से संबंधित जानकारी देते हुए कहा कि जीएसटी पंजीयन व्यापारी सम्मान का प्रतीक है। देश एवं प्रदेश की विकास योजनाओं ने जीएसटी अंतर्गत पंजीकृत व्यापारियों की सक्रियता से भागीदारी की है। जीएसटी पंजीकरण व्यापारिक उन्नति की संभावना का प्रथम सोपान है। जीएसटी कर प्रणाली में समस्त कार्य घर बैठे आनलाइन कर सकते हैं। दोस्त को किसी भी राज्य से खरीदे गए माल पर आईटीसी की निर्वाह सुविधा है। इसके साथ भी उन्होंने यह भी अवगत कराया बीमा योजना के लिए कोई प्रीमियम नहीं उत्तर प्रदेश राज्य में पंजीकृत व्यापारियों के लिए सडक़ दुर्घटना में दस लाख रुपए बीमा योजना के माध्यम से मिल सकेगा। छोटे एवं मझोले व्यापारियों के लिए अत्यंत सरल रिटर्न फार्म सहज एवं सुगम है। पांच करोड़ रुपए की वार्षिक कारोबारी सीमा तक के व्यापारियों के लिए तिमाही रिटर्न की सुविधा आदि बिंदुओं में विभाग के द्वारा जानकारी दी गई। इस दौरान प्रमुख रूप से रामप्रकाश पुरवार ताऊ जी, जय खत्री, सुनील पटवा, राजेश पुरवार, राकेश पुरवार, उमेशकांत पुरवार, प्रदीप गांधी, विशाल सिंह सेंगर आदि व्यापारी मौजूद थे।