Covid-19 vaccine: स्वास्थ्य मंत्री फैसल सुल्तान ने शुक्रवार को बताया कि पाकिस्तान ने चीन की कोविड-19 वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूर किया है. चीनी कंपनी कैनसिनोबायो की बनाई वैक्सीन दक्षिण एशियाई राष्ट्र की अधिकृत चौथी वैक्सीन है. इससे पहले चीन की सिनोफार्म, एस्ट्राजेनेका और रूस की स्पुतनिक-V वैक्सीन को भी स्वीकृति मिल चुकी है.

पाकिस्तान ने चीन की कोविड-19 वैक्सीन को किया मंजूर 

मेक्सिको के बाद पाकिस्तान कैनसिनोबायो की वैक्सीन को मंजूरी देनेवाला दूसरा देश है. कैनसिनो के साथ मेक्सिको ने 8 मिलियन डोज का समझौता किया है. सुल्तान के मुताबिक, पाकिस्तान ‘लाखों खुराक की सीमा में’ डोज हासिल कर सकता है. कैनसिनोबायो ने पाकिस्तान समेत कई देशों में किए गए मानव परीक्षण के अंतरिम नतीजे पिछले सप्ताह जारी किया था.

कैनसिनोबायो की वैक्सीन आपातकालीन में होगी इस्तेमाल 

रॉयटर्स ने बताया कि लक्षणात्मक कोरोना वायरस मामलों की रोकथाम में वैक्सीन ने 65.7 फीसद असर दिखाया और गंभीर संक्रमण को रोकने की सफल दर 90. 98 फीसद रही. आपको बता दें कि पाकिस्तान ने निजी कंपनियों को कोविड-19 वैक्सीन के आयात की बात कही है और मूल्य सीमा पर छूट देने की सहमति जताई है. सरकार के इस फैसले ने आलोचना को जन्म दे दिया है.

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री जफर मिर्जा ने रॉयटर्स को बताया था, “इससे समाज में असमानता को बढ़ावा मिलेगा. सरकार की ये नीति इसलिए ठीक नहीं है क्योंकि अमीरों को टीका लगवाने की क्षमता होगी.” देश में जनवरी से कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान शुरू किया गया है. सहयोगी चीन ने सिनोफार्म का 5 लाख खुराक डोनेट किया है जिसका इस्तेमाल प्राथमिकता के तौर पर फ्रंटलाइन हेल्थकेयर वर्कर्स के लिए किया जा रहा है. हालांकि, पाकिस्तान को कोवैक्स पहल के तहत 17 मिलियन डोज मिलने की उम्मीद है.

World Corona Update: 24 घंटे में कोरोना के 4.13 लाख से ज्यादा नए मामले आए, 12 हजार से ज्यादा लोगों की गई जान

रूस और चीन के दबाव में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में म्यांमार के लिए पारित हुआ संशोधित प्रस्ताव



Source link