पेपर लीक मामले में आरोपी पकड़ा गया
– फोटो: अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* सिर्फ ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनकर

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (पैचईटी) से जुड़ी आगरा से बड़ी खबर सामने आई है। यहां पुलिस ने मंगलवार को कोचिंग संचालक समच पांच युवकों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि इन युवकों ने आगरा में कठईटी का पेपर परीक्षा से लगभग दो घंटे पहले लीक किया था। इसका खुलासा होने पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

पीठईटी का प्रश्नपत्र लीक करने के मामले में पुलिस ने विकास शर्मा, थान सिंह, आकाश, कुलदीप और मोहित नाम के युवकों को गिरफ्तार किया है। विकास कोचिंग संचालक है। इसी परीक्षा से दो घंटे पहले प्रश्नपत्र लीक हुआ था। बाकी पूरे विकास के साथी हैं। पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

बताया जा रहा है कि प्रश्नपत्र लीक करने के पीछे पूरा साथी है। मुद्राओं ने व्हाट्सएप ग्रुप पर प्रश्नपत्र को लीक किया था। इस संबंध में क्षेत्राधिकारी (सीओपी) लोहामंडी रितेश कुमार सिंह ने बताया कि प्रश्नपत्र लीक होने का मामला सामने आया है। पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया है। उनसे हस्तक्षेप की जा रही है।

बता दें कि केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा रविवार को जिले के 96 केंद्रों पर दो पाली में हुई थी। पंजीकृत 50 हजार अभ्यर्थी में से 40750 और दूसरी पाली में 40950 अभ्यर्थी उपस्थित थे। परीक्षा केंद्रों पर पुलिस तैनात रही। सीबीएसई की ओर से पर्यवेक्षक भी लगाए गए थे। कड़ी निगरानी में परीक्षा कराने के दावे किए गए थे।

आगरा मंडल के मैनपुरी जिले में अभयर्थी के स्थान पर परीक्षा देने के लिए ‘मुन्नाभाई’ पकड़ी गई थी। हस्तक्षेप में खुलासा हुआ कि उससे 50 हजार रुपये में सौदा तय हुआ था। ‘मुन्नाभाई’ को पकड़ने के बाद पुलिस ने अभ्यर्थी और बिचौलिया को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सल्ल्वर गैंग के अन्य सदस्यों के बारे में महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगने की बात कह रही है।

जिले में 26 केंद्रों पर रविवार को केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (कठईटी) का आयोजन किया गया था। इस दौरान फर्दपुर रोड स्थित बालाजी ग्लोबल एकेडमी पर अभयर्थी के स्थान पर परीक्षा देने आई ‘मुन्नाभाई’ को बिछवां पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पूछताछ पर उसने अपना नाम महेंद्र सिंह निवासी उत्तर नगर सैलई, सती रोड, थाना रामगढ़, फिरोजाबाद हाल निवासी इटावी रोड, बेवर को बताया।

हस्तक्षेप में महेंद्र ने सल्वर गैंग के सदस्यों के नाम भी बताए। पूछताछ में उसने बताया कि वह इटावा रोड बेवर निवासी राहुल वर्मा के स्थान पर परीक्षा देने आया था। थाना कुरावली के गांव अशोकपुर निवासी अक्षय, जो वर्तमान में कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला वंशीगोहरा में रहता है और ब्रजेश सोलंकी निवासी सैलई आंबेडकर पार्क थाना रामगढ़ फिरोजाबाद ने उसे शुल से मिलवाया था।

राहुल की जगह परीक्षा देने के लिए उसे 50 हजार रुपये में बात तय हुई थी। पुलिस ने बिचुलिया अक्षय और अभयर्थी राहुल को भी गिरफ्तार कर लिया है। सभी ने अपना जुर्म कुबूल किया है। पुलिस ब्रजेश सोलंकी की तलाश कर रही है। इसमें गैंग के सदस्यों के बारे में पुलिस के हाथ कई अहम सुराग लगे हुए हैं।

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (पैचईटी) से जुड़ी आगरा से बड़ी खबर सामने आई है। यहां पुलिस ने मंगलवार को कोचिंग संचालक समच पांच युवकों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि इन युवकों ने आगरा में कठईटी का पेपर परीक्षा से लगभग दो घंटे पहले लीक किया था। इसका खुलासा होने पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

पीठईटी का प्रश्नपत्र लीक करने के मामले में पुलिस ने विकास शर्मा, थान सिंह, आकाश, कुलदीप और मोहित नाम के युवकों को गिरफ्तार किया है। विकास कोचिंग संचालक है। इसी परीक्षा से दो घंटे पहले प्रश्नपत्र लीक हुआ था। बाकी पूरे विकास के साथी हैं। पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

बताया जा रहा है कि प्रश्नपत्र लीक करने के पीछे पूरा साथी है। मुद्राओं ने व्हाट्सएप ग्रुप पर प्रश्नपत्र को लीक किया था। इस संबंध में क्षेत्राधिकारी (सीओपी) लोहामंडी रितेश कुमार सिंह ने बताया कि प्रश्नपत्र लीक होने का मामला सामने आया है। पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया है। उनसे हस्तक्षेप की जा रही है।

बता दें कि केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा रविवार को जिले के 96 केंद्रों पर दो पाली में हुई थी। पंजीकृत 50 हजार अभ्यर्थी में से 40750 और दूसरी पाली में 40950 अभ्यर्थी उपस्थित थे। परीक्षा केंद्रों पर पुलिस तैनात रही। सीबीएसई की ओर से पर्यवेक्षक भी लगाए गए थे। कड़ी निगरानी में परीक्षा कराने के दावे किए गए थे।


आगे पढ़ें

मैनपुरी में पकड़ा गया सलवर था





Source link