ऊरई (जालौन)(गोविंद सिंह दाऊ ):- जनपद न्यायाधीश अशोक कुमार सिंह के निर्देशन में तहसील उरई के अन्तर्गत ग्राम सरसौखी स्थित प्राथमिक विद्यालय में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन द्वारा कराया गया। कोरोना गाइड-लाइन के अन्तर्गत सम्पन्न इस शिविर की अध्यक्षता करते हुये जिला विधिक सेवा प्राधिकरण प्रभारी सचिव/ सिविल जज (सी.डि.) विवेक कुमार सिंह ने लैंगिक समानता, घरेलू हिंसा से संरक्षण अधिनियम और किशोर न्याय विधि के विशय में उपस्थित ग्रामीणों को विस्तार से बताया। उन्होंने कहाकि समाज के स्त्री वर्ग को भी पुरूशों की तरह समान अधिकार एवं अवसर प्राप्त हैं। उन्होंने घरेलू हिंसा से संरक्षण अधिनियम के विशय में जानकारी देते हुये बताया कि यदि कोई महिला अपने पति, पिता अथवा किसी अन्य सदस्य से शारीरिक या मानसिक रूप से प्रताडि़त की जाती है, तो वह जिले के प्रोबेशन अधिकारी अथवा मजिस्ट्रेट न्यायालय में शिकायत दर्ज करा सकती है। यहां जांचोपरान्त दोशियों के विरूद्ध विधि अनुसार कार्यवाही की जाती है। किशोर न्याय विधि की चर्चा करते हुये बताया कि अब अपराध करने पर बच्चों को बाल अपराधी नहीं कहा जाता है बल्कि उन्हें बाल अपचारी की संज्ञा दी गयी है और उनके विरूद्ध मामलों का विचारण किशोर न्याय बोर्ड द्वारा किया जाता है। उन्हें अधिक सजा देने के बजाय कम से कम सजा देकर सुधरने का मौका दिया जाता है। निर्भया काण्ड के बाद इनसे सम्बन्धित कानून में किये गये संशोधन के पश्चात अब 16 वर्श से अधिक उम्र के बच्चों द्वारा गम्भीर अपराध करने पर सामान्य अपराधियों की तरह सजा पर विचारण किया जाता है।
प्रशिक्षणरत न्यायिक मजिस्ट्रेट तुशार जायसवाल ने विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा उपलब्ध कानूनी सुविधाओं की जानकारी दी और उन्होंने ग्रामीणों से अपील की कि यहां जितने लोग भी उपस्थित हैं, उनकी जिम्मेदारी है कि वह यहां दी गयी जानकारी को गांव के अन्य लोंगो तक भी पहुंचायें। राजकीय इण्टर काॅलेज के प्रधानाचार्य श्री राजकुमार तिवारी, स्वास्थ्य विभाग से अपर शोधाधिकारी श्री अकील अहमद, समाज कल्याण विभाग के प्रतिनिधि पवन कुमार शर्मा एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रीडर अश्वनी कुमार ने अपने-अपने विभाग से संचालित योजनाओं की जानकारी विस्तार से दी। इस अवसर पर ग्राम प्रधान सतीश कुमार, लेखपाल लायक सिंह, पीएलवी टीम लीडर श्री महेश सिंह परिहार व दीपक नरायन, करन सिंह यादव रामदेव चतुर्वेदी, श्रीमती मनीशा, योगेन्द्र तखेले, महेन्द्र मिश्रा, राममोहन चतुर्वेदी, बलराम, रामसेवक, दीपक कुमार, करन पाल समेत ग्रामवासी उपस्थित रहे।