उरई(जालौन)(गोविंद सिंह दाऊ):- हर मां बाप को अपने बच्चों की शादी कर अरमान होता पर इस महंगाई और भागदौड़ की जिंदगी में मां-बाप का यह सपना पूरा होने में बड़ी दिक्कत होती है। ऐसे में हम सभी को चाहिए की सामूहिक रूप से बेटियों की शादियां करें ताकि मजबूर मां बाप का बेटी को दुल्हन बनाने का सपना पूरा हो सके। उक्त बात शहर के सर्व समाज सामूहिक शादी सम्मेलन में आए बॉलीवुड स्टार शबाब हाशिम ने कही।
हर साल की तरह इस बार भी शहर के रजिस्ट्री ऑफिस के पास सर्व समाज सामूहिक शादी सम्मेलन का प्रोग्राम हुआ जिसमें दो दर्जन मजबूर और गरीब मां-बाप के बेटे बेटियों को दुल्हा दुल्हन बनाकर उनकी शादी कराई गई। कार्यक्रम के संयोजक शहीद वीर अब्दुल हमीद सामाजिक समिति के अध्यक्ष हमीद शाह कादरी ने पूरे कार्यक्रम की व्यवस्था संभाली जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में दिनेश अवस्थी मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप मेंजनपद के बालीबुड स्टार व मायरा फाउंडेशन के चेयरमैन शबाब हाशिम मौजूद रहे और नए दूल्हा दुल्हन को आशीर्वाद देकर बधाई दी। इस दौरान शबाब हाशिम ने कहा कि हर मां बाप को अपने बच्चों की शादी कर अरमान होता पर इस महंगाई और भागदौड़ की जिंदगी में मां-बाप का यह सपना पूरा होने में बड़ी दिक्कत होती है। ऐसे में हम सभी को चाहिए की सामूहिक रूप से बेटियों की शादियां करें ताकि मजबूर मां बाप का बेटी को दुल्हन बनाने का सपना पूरा हो सके। इसके अलावा कार्यक्रम के सरपरस्त जुल्फिकार अहमद उर्फ सज्ज्न ठेकेदार , संरक्षक केशवेन्द्र सिंह, विशेष सहयोगी यूसुफ अंसारी, बदरुद्दीन, सिद्धार्थ मिश्रा, अब्दुल कयूम, कालेनदर निजामी, प्रबल प्रताप सिंह, मोहम्मद नाजिर और दरियाव सिंह यादव मौजूद रहे।


इनसेट–
नए दूल्हा दुल्हन को दिया गया जरूरत का सामान
उरई। सर्व समाज सामूहिक शादी सम्मेलन में नए दूल्हा दुल्हन को शहीद वीर अब्दुल हमीद सामाजिक समिति द्वारा उनकी जरूरत का सामान दिया गया इसमें मुख्य रूप से जरूरी जेवरात, गैस चूल्हा, पंखा, कूलर, बेड, खाने-पीने के बर्तन मेज कुर्सी आदि रहा।