IAS Success Story: ग्रेजुएशन में पढ़ाई में बिलकुल मन नहीं लगता था, लेकिन आईएएस बनने की चाह ने बदली अनुराग की जिंदगी


Success Story Of IAS Topper Kumar Anurag: यूपीएससी की तैयारी करने वाले ज्यादातर लोगों को लगता है कि इस परीक्षा में पास होने के लिए आपका बैकग्राउंड काफी मजबूत होना चाहिए. हालांकि कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो शुरुआत में पढ़ाई में काफी अच्छे नहीं होते लेकिन यूपीएससी परीक्षा के लिए ईमानदारी से मेहनत करके सफलता प्राप्त करके दिखाते हैं. ऐसी ही कहानी बिहार के कटिहार जिले के रहने वाले अनुराग की है, जो लाखों युवाओं के लिए मिसाल बन चुके हैं. अनुराग जब ग्रेजुएशन में थे, तब उनका पढ़ाई में बिल्कुल मन नहीं लगता था. हालत यह थी कि ग्रेजुएशन के दौरान वह कई सब्जेक्ट में पास नहीं हो पाए, लेकिन एक बार उन्होंने आईएएस बनने की ठानी तो फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा.

ऐसा रहा अनुराग का शुरुआती सफर

अनुराग की शुरुआती पढ़ाई हिंदी मीडियम से हुई. उन्हें हाईस्कूल में अंग्रेजी मीडियम में दाखिला दिला दिया गया. ऐसे में अनुराग को थोड़ी परेशानी हुई लेकिन उन्होंने अपनी मेहनत से हाई स्कूल में अच्छे नंबर प्राप्त किए. इंटरमीडिएट में भी उनके अच्छे नंबर आए, जिसकी बदौलत उन्हें दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में दाखिला मिल गया. हालांकि ग्रेजुएशन में उनका मन पढ़ाई में नहीं लग रहा था. इसके कारण उन्हें कई सब्जेक्ट को पास करने में कई प्रयास लगे. इस जब उन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशन में दाखिला लिया, तब उन्होंने आईएएस बनने की ठानी. इस तरह उन्होंने शुरुआत से तैयारी शुरू कर सफलता हासिल की.

पहली बार में मिली सफलता, लेकिन आईएएस रैंक नहीं मिली

अनुराग ने एक बार जब यूपीएससी में सफलता प्राप्त करने की ठानी तो फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा. उन्होंने अपनी रणनीति बनाई और तैयारी में जुट गए. उन्होंने ज़ीरो से तैयारी शुरू की और पहले ही प्रयास में सफलता मिल गई. हालांकि इस बार उन्हें मन मुताबिक आईएएस की रैंक नहीं मिली. वे तो आईएएस बनने की ठान चुके थे इसलिए दोबारा प्रयास किया. दूसरी बार में उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा पास कर अपना सपना पूरा कर लिया. साल 2018 में उन्होंने दूसरे प्रयास में 48वीं रैंक प्राप्त की. इस तरह अनुराग ने देश की सबसे कठिन मानी जाने वाली परीक्षा पास कर मिसाल कायम की.

यहां देखें अनुराग द्वारा दिल्ली नॉलेज ट्रेक को दिया गया इंटरव्यू

 

दूसरे कैंडिडेट्स को यह सलाह देते हैं अनुराग

अनुराग का मानना है कि सिविल सर्विस की तैयारी के लिए आपको पिछले बैकग्राउंड पर निर्भर होने के बजाय शुरू से तैयारी करनी चाहिए. यह एक ऐसी परीक्षा है जहां आप जीरो से शुरू करके सफलता प्राप्त कर सकते हैं. अनुराग का मानना है कि यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए जल्दबाजी बिल्कुल नहीं करनी चाहिए. सबसे पहले आप इसके सिलेबस को अच्छी तरह देखें, उसके हिसाब से रणनीति बनाएं. रणनीति बनाकर मन लगाकर तैयारी करें और इस परीक्षा में शामिल हों. वे कहते हैं कि आपको यूपीएससी में सफलता प्राप्त करने के लिए अपनी तैयारी के लिए समय लेना चाहिए. हर चीज को अच्छी तरह पढ़ना चाहिए प्रैक्टिस करनी चाहिए. अगर आप इन सब चीजों को ध्यान रखकर तैयारी करेंगे तो निश्चित रूप से सफलता मिलेगी.

यह भी पढ़ें

IAS Success Story: जिंदगी की कठिनाइयों का डटकर सामना किया और ऐसे रितिका ने यूपीएससी में हासिल की सफलता

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI



Source link

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?