नई दिल्लीः केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत में अब तक 31.50 करोड़ कोरोना वैक्सीन डोज दी जा चुकी है. इसमें पहली और दूसरी डोज शामिल हैं. पिछले 24 घंटो में 61,19,169 वैक्सीन की डोज दी गई हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक 26 जून सुबह 9 बजे तक 60 साल से ज्यादा उम्र के 6,70,95,979 लोगों को पहली और 2,29,35,996 लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी है. यानी 60 साल से ज्यादा उम्र के 2,29,35,996 लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी हैं. 

60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए 1 मार्च से टीकाकरण शुरू किया गया था और करीब 4 महीने हो चुके हैं. लेकिन अब तक 9,00,31,975 वैक्सीन डोज दी जा चुकीं, जिसमें से सिर्फ 2,29,35,996 लोगों को ही वैक्सीन की दोनों डोज़ मिल चुकी है. अभी भी 4,41,59,983 अभी दूसरी डोज बाकी है. आखिर ऐसा क्यों है?

जानकारों के मुताबिक इसके संभावित तीन कारण हो सकते हैं, पहला वैक्सीन को लेकर नई गाइडलाइन, जिसमें पहली और दूसरी डोज के बीच समय बढ़ाया गया है. दूसरी कुछ लोगों को दूसरी लहर में संक्रमित हुए और तीसरी वजह है वैक्सीन को लेकर भ्रम. 

क्या कहते हैं एक्सपर्ट
पूर्व निदेशक डॉ. एम सी मिश्रा के मुताबिक इसके मुख्य कारण दो-तीन हैं. पहला जिन लोगों ने मार्च अप्रैल में वैक्सीन ली उसके बाद नई गाइडलाइंस आई, जिसमें दूसरी डोज का समय बढ़ा दिया गया. दूसरा कारण है दूसरी लहर में कई लोग संक्रमित हुए और जिनको संक्रमण हुआ उनको दूसरी डोज तुरंत लेने की आवश्कयता नहीं है. ऐसी गाइडलाइंस आई, जिसमें वो तीन से छह महीने बाद दूसरी डोज ले सकते हैं. तीसरी वजह इसको लेकर लोगों में कुछ भ्रम अभी भी रह सकता है.

जिनको पहली डोज लगी है और दूसरी बाकी है, उसकी सबसे बड़ी वहज कोरोना की वैक्सीन कोवीशील्ड की दो डोज के बीच अंतर बढ़ाया जाना है. सबसे ज्यादा इसी वैक्सीन की डोज दी गई हैं. Cowin पोर्टल पर शनिवार 26 जून दोपहर साढ़ें तीन बजे तक के आंकड़ो के मुताबिक 27,38,85,435 कोवीशील्ड की डोज दी गई हैं, जबकि 3,71,89,542 कोवैक्सीन की डोज दी गई हैं.

26 जून सुबह 9 बजे तक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक 31,50,45,926 वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं, जिसमें अब तक 25,98,34,772 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज और 5,52,11,154 लोगों कोरोना के टीके की दोनों डोज दी जा चुकी हैं. 

आंकड़ों पर एक नजर
– 1,01,83,459 हेल्थकेयर वर्कर्स को पहली और 71,75,222 हेल्थकेयर वर्कर्स को दूसरी डोज दी जा चुकी है. 
– वहीं 1,74,05,275 फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहली डोज और 93,02,922 को दूसरी डोज दी गई हैं.  
– इसके अलावा 60 साल से ज्यादा उम्र के 6,70,95,979 लोगों को पहली और 2,29,35,996 लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी हैं. 
– 45 से 59 साल की उम्र के 8,59,69,905 लोगों को पहली और 1,40,81,556 लोगों को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज दी जा चुकी है. 
– वहीं 18 से 44 साल के 7,91,80,154 लोगों को पहली और 17,15,458 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज मिल चुकी है.

कब शुरू हुआ था वैक्सीनेशन
देशव्यापी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी  को शुरू किया गया था और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण 2 फरवरी से शुरू हुआ था. कोरोना टीकाकरण के अगले चरण की शुरुआत 1 मार्च से हुई थी, जिसमें 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के साथ 45 साल से ज्यादा उम्र के लोग जिन्हें गंभीर बीमारी है उनका टीकाकरण शुरू हुआ था. वहीं 1 अप्रैल से 45 साल से ज्यादा उम्र के हर व्यक्ति को टीकाकरण शुरू किया गया था. 1 मई से 18 से 44 साल के लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ था. जबकि 21 जून से 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को मुफ्त टीकाकरण की शुरुआत हुई थी.

यह भी पढ़ेंः पीएम मोदी ने वैक्सीनेशन पर की समीक्षा बैठक, दिसंबर तक पूरे देश का टीकाकरण करने का दिया लक्ष्य



Source link