जम्मू: भारतीय जनता पार्टी ने जम्मू कश्मीर में धारा 370 की बहाली की मांग कर रहे राजनेताओं पर तीखा हमला बोलते हुए कहा है कि जम्मू कश्मीर में दोबारा इस धारा को लागू करना असंभव है. बीजेपी ने यह भी दावा किया कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जो लोग रह रहे हैं, वह भारत के नागरिक हैं. 

24 जून को दिल्ली में पीएम के साथ हुई सर्वदलीय बैठक से लौटकर जम्मू पहुंचे बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रविंदर रैना और पूर्व उप मुख्यमंत्री कवीन्द्र गुप्ता ने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने सर्वदलीय बैठक बुलाकर जम्मू कश्मीर और दिल्ली के बीच का डेडलॉक खत्म कर दिया है. इस बैठक के बाद लगातार जम्मू कश्मीर के कई सियासी दल प्रदेश में धारा 370 की बहाली की मांग कर रहे हैं. 

ऐसे नेताओं पर तीखा हमला बोलते हुए रविंद्र रैना ने कहा कि जो लोग जम्मू कश्मीर में धारा 370 की बहाली का सपना देख रहे हैं, उन्हें यह पता होना चाहिए कि धारा 370 को जम्मू कश्मीर में वापस बहाल करना नामुमकिन है. उन्होंने कहा कि धारा 370 को अब जम्मू कश्मीर में कयामत तक बहाल नहीं किया जा सकता. रविंद्र रैना ने कहा कि 24 जून को दिल्ली में हुई इस बैठक में बीजेपी ने पीएम के सामने पाकिस्तान से विस्थापित हुए लोगों का पक्ष भी रखा. 

उन्होंने कहा कि प्रदेश बीजेपी ने पीएम से कहा कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में रह रहे लोग भारत के नागरिक हैं. जम्मू कश्मीर बीजेपी ने दावा किया कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने 90 के दशक में घाटी से विस्थापित हुए कश्मीरी पंडितों का मामला भी उठाया और इन कश्मीरी पंडितों की घाटी वापसी के लिए एक अपैक्स समिति बनाने की बात कही. 

उन्होंने कहा कि इस बैठक में जम्मू कश्मीर में परिसीमन का मामला भी उठाया गया और जम्मू-कश्मीर में जनसंख्या के आधार पर परिसीमन जल्द किया जाएगा. वहीं, रविंद्र रैना ने यह भी कहा कि इससे पहले जो भी परिसीमन जम्मू-कश्मीर में हुए हैं, उनमें तब की सरकारों ने धांधली करवाई है. 

Vaccination: मिमी चक्रवर्ती पर पड़ा वैक्सीन का असर, फर्जी कैंप से टीका लगवाने के बाद गंभीर रूप से बीमार



Source link