अमेरिका की एक अदालत ने जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के मामले में बड़ा फैसला सुनाया है. इससे पहले वॉशिंगटन की हेनेपिन काउंटी कोर्ट ने मिनियापोलिस के पूर्व पुलिस अधिकारी डेरेक चाउविन को अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लायड की हत्या का दोषी ठहराया था. जिस मामले में दोषी ठहराए गए मिनियापोलिस के पूर्व पुलिस अधिकारी डेरेक चाउविन को 22.5 साल जेल की सजा सुनाई गई है.

पिछले साल चाउविन के जरिए फ्लॉयड की गर्दन को घुटने से दबाए जाने के बाद दम घुटने से मौत हो गई थी, जिसका वीडियो सामने आने के बाद अमेरिका में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे. एक समाचार पत्रिका के अनुसार कहा जा रहा है कि अभियोजकों ने 30 साल की सजा मांगी थी. हालांकि, चाउविन का कोई पूर्व आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है. इसलिए न्यायाधीश को 10 साल से 15 साल के बीच की सजा देने की सलाह दी गई थी.

मिली 22.5 साल जेल की सजा

न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार, जज पीटर ए काहिल ने चाउविन को सजा सुनाने से पहले कहा कि उनकी सजा भावनाओं पर आधारित नहीं होगी, लेकिन साथ ही उन्होंने कहा ‘मैं उस दर्द को स्वीकार करना चाहता हूं जो सभी परिवार महसूस कर रहे हैं, खासकर फ्लॉयड परिवार.’ इसके साथ ही जज ने चाउविन को 22.5 साल जेल की सजा सुनाई.

चाउविन ने फ्लॉयड परिवार के प्रति व्यक्त की संवेदना

बता दें कि इससे पहले चाउविन को अप्रैल में सेकेंड-डिग्री मर्डर, थर्ड-डिग्री मर्डर और सेकेंड-डिग्री मैन्सलॉटर का दोषी ठहराया गया था. उन्हें सेकेंड-डिग्री हत्या के लिए 40 साल तक, थर्ड-डिग्री हत्या के लिए 25 साल तक और हत्या के लिए 10 साल तक की जेल की सजा का प्रावधान है. वहीं कोर्ट में संक्षेप में बोलते हुए चाउविन ने फ्लॉयड के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की. उसने कहा ‘मैं फ्लॉयड परिवार के प्रति अपनी संवेदना देना चाहता हूं.’

इसे भी पढ़ेंः
वैक्सीनेशन में फर्जीवाड़ा: मुंबई में 2 हजार और कोलकाता में 500 लोगों को लगाई गई फर्जी कोरोना वैक्सीन

ऑक्सीजन पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने दाखिल किया सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा, दिल्ली को लेकर अंतरिम रिपोर्ट पर विवाद



Source link