लखनऊ: यूपी के विधानसभा चुनाव से पहले दलित वोटों को साधने के लिए भारतीय जनता पार्टी अब अंबेडकर के नाम पर स्मारक स्थल बनाएगी. राजधानी लखनऊ में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 29 जून को अंबेडकर स्मारक का शिलान्यास करेंगे. भारत रत्न बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर के नाम पर बनने वाला ये नया स्मारक दलितों को साधने की कोशिश के लिए महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है. शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट ने इस प्रस्ताव को मंज़ूरी दी.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से 29 जून को विधानसभा के ठीक सामने स्थित लोकभवन सभागार में इसका शिलान्यास करेंगे. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अभी यूपी के दौरे पर आए हैं. भीमराव अंबेडकर के नाम पर बनने वाले स्मारक का नाम अंबेडकर सांस्कृतिक सेंटर दिया जाएगा. इसका शिलान्यास 29 जून को सुबह 11 बजे लोकभवन में होगा. इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी मौजूद रहेंगे. अंबेडकर सांस्कृतिक सेंटर में बाबा साहब की 25 फुट की मूर्ति स्थापित की जाएगी. 45 करोड़ की लागत से बनने वाले इस स्मारक में 750 लोगों की क्षमता का प्रेक्षागृह, लाइब्रेरी और म्यूज़ियम भी बनाया जाएगा.

यूपी में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं. बीजेपी हिंदुत्व के मुद्दे के साथ साथ जातिगत समीकरण साधने की पुरज़ोर कोशिश में लगी है. राम मंदिर और बाबा विश्वनाथ कॉरिडोर को जनता के सामने करके बीजेपी अपने हिंदुत्व के एजेंडे को साधेगी. वहीं बाबा साहब के स्मारक, सुहेलदेव पर सरकार के आयोजनों और निषादराज के नाम पर श्रृंगवेरपुर में बन रहे स्मारक को आगे करके दलित और पिछड़ों को लुभाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी.

यूपी विधानसभा चुनाव में BSP और AIMIM का गठबंधन संभव, दोनों दलों के नेताओं की बातचीत जारी



Source link