झांसी : मुश्किल समय में पत्रकारों की एकजुटता से ही समस्याओं का निदान संभव है। हमने पहले भी कई लड़ाई जीती है और आगे भी जीतेंगे।

इंडियन फेडरेशन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट (आईएफडब्लूजे) से संबद्ध यूपी वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन (यूपीडब्लूजेयू) की शनिवार को यहां आयोजित राज्य कार्यकारिणी बैठक को वर्चुअली संबोधित करते हुए प्रधान महासचिव परमानंद पांडे ने कहा कि श्रम कानूनों में बदलाव के दौर में पत्रकार संगठनों को अपने हितों की रक्षा करने के लिए संघर्ष करना होगा।

होटल रिषभ के सभागार में हुई राज्य कार्यकारिणी बैठक में हुए चुनाव में वरिष्ठ पत्रकार व मीडिया मंच पत्रिका के संपादक टीबी सिंह को यूपीडब्लूजेयू अध्यक्ष व फतेहपुर के वरिष्ठ पत्रकार राजेश माहेश्वरी को महासचिव चुना गया। सोनभद्र जिले के पत्रकार व जाने माने लेखक विजय शंकर चतुर्वेदी प्रदेश उपाध्यक्ष व गोरखपुर के इंद्रमणि, मुरादाबाद के संतोष गुप्ता, बलरामपुर जिले के सर्वेश कुमार सिंह, लखनऊ के राजेश मिश्रा और अजय त्रिवेदी को प्रदेश सचिव चुना गया। अन्य पदाधिकारियों का चुनाव सोनभद्र में प्रस्तावित राज्य सम्मेलन में किया जाएगा। आज हुए चुनाव के दौरान आईएफडब्लूजे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हेमंत तिवारी, राष्ट्रीय सचिव सिद्धार्थ कलहंस व राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष विकास शर्मा पर्यवेक्षक रहे।

यूपीडब्लूजेयू के झांसी सम्मेलन में पांच दर्जन से ज्यादा पत्रकार उपस्थित रहे जबकि इतनों ने ही वर्चुअल तरीके से भाग लिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दैनिक जागरण झांसी के प्रधान संपादक व जागरण निदेशक मंडल सदस्य यशोवर्धन गुप्ता रहे। मेयर झांसी रामतीरथ सिंघल, दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री व पूर्व महापौर धन्नू लाल गौतम व पूर्व विधायक विनोद चतुर्वेदी विशिष्ट अतिथि रहे।

अपने संबोधन में यशोवर्धन गुप्ता ने कहा कि झांसी पत्रकारों लेखकों की धरती है और यहां से संगठन को नयी दिशा मिलेगी। वर्षों तक पत्रकारिता कर चुके मेयर रामतीरथ सिंघल ने पत्रकारों को कोरोना काल के बाद झांसी में कार्यक्रम आयोजित करने का सुझाव दिया। कार्यक्रम में लखनऊ से वरिष्ठ पत्रकार श्याम बाबू, वीरेंद्र सिंह, सुनील दिवाकर, आशीष बाजपेई, मऊरानीपुर से अशोक गुप्ता, फतेहपुर से रोहित महेश्वरी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।





Source link