कोरोना महामारी के बाद दुनिया भर में आजकल अल्फा, बीटा, गामा, डेल्टा आदि वेरिएंट की चर्चा है. लेकिन ये नाम अचानक नहीं दिए जा रहे हैं. न ही ये नाम नए हैं. ये नाम यूनान की प्राचीन वर्णमाला से लिए जा रहे हैं. पिछले साल दिसंबर में ब्रिटेन में कोरोना के नए वेरिएंट का पता चला. इसका नाम ग्रीक वर्णमाला के पहले अक्षर से लिया गया. इसके बाद बीटा और गामा वेरिएंट भी आ गए. अब डेल्टा वेरिएंट की सबसे ज्यादा चर्चा है. 

गणित और विज्ञान के प्रचलित नाम 
दरअसल, ग्रीक वर्णमाला के अक्षरों का सबसे ज्यादा ज्यादा इस्तेमाल गणित और विज्ञान में किया जाता है. बीटा, थीटा, पाई, सिगमा आदि से हम सब परिचित है. तत्वों के नाम, सितारों के नाम तो ग्रीक वर्णमाला से लिए ही गए हैं, उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के नाम भी ग्रीक वर्णमाला से दिए जाते हैं. अब कोरोना महामारी आने के बाद इसके नए-नए वेरिएंट के नाम भी इसी वर्णमाला से दिए जा रहे हैं. अब तक कोरोना के एटा, आएओटा और कप्पा वेरिएंट भी आ गए हैं. इस तरह देखा जाए वर्णमाला के कई अक्षरों का इस्तेमाल हो चुका है लेकिन जिस रफ्तार से कोरोना के नए-नए वेरिएंट सामने आ रहे है, उसमें ग्रीक वर्णमाला के कहीं पूरे अक्षर न खत्म हो जाए. 

कितनी पुरानी है ग्रीक भाषा
ग्रीक भाषा का इस्तेमाल 8वीं सदी ईसा पूर्व में माना जाता है. यानी बुध के समय से 400-500 साल पहले. यूनान यानी आज के ग्रीस में 1000 सदी ईसा पूर्व में माइसीनियाई (Mycenaean) सभ्यता का विकास हुआ था. इनकी अपनी भाषा थी माइसीनियाई. इस सभ्यता के पतन के बाद ग्रीक भाषा का विकास हुआ. ग्रीक भाषा की वर्णमाला में 24 अक्षर हैं. आधुनिक यूरोप की कई भाषाओं का विकास ग्रीक से ही हुई है. अंग्रेजी की रोमन लिपि और रूस की सिरलिक वर्णमाला दोनों ग्रीक वर्णमाला से ही आए हैं. स्वर और व्यंजन के लिए पृथक चिन्ह वाली यह पहली भाषा मानी जाती है. 

24 अक्षरों वाले वर्णमाला में अक्षरों के नाम और चिन्ह ये हैं-
अक्षर  नाम
Α α  अल्फ़ा
Β β  बेटा, बीटा
Γ γ  गामा
Δ δ  डेल्टा
Ε ε  ऍप्सिलन
Ζ ζ  ज़ेटा, ज़ीटा
Η η  एटा, ईटा
Θ θ  थ़ेटा, थ़ीटा
Ι ι  आयोटा
Κ κ  कापा
Λ λ  लाम्डा
Μ μ  म्यू
Ν ν  न्यू
Ξ ξ  ज़ाइ
Ο ο  ओमिक्रॉन
Π π  पाइ
Ρ ρ  रो
Σ σ ς  सिग्मा
Τ τ  टाऊ
Υ υ  उपसिलन, अपसिलन
Φ φ  फ़ाइ, फ़ी
Χ χ  काइ, चाइ, ख़ाइ
Ψ ψ  साइ, सी
Ω ω  ओमेगा

ये भी पढ़ें-

गुजरात: जगन्नाथ रथ यात्रा से पहले गृह मंत्री अमित शाह ने की पूजा, मंगल आरती में लिया हिस्सा

Janta Darbar: पटना में आज से लगेगा जनता दरबार, लोगों की समस्याओं को सुनेंगे CM नीतीश कुमार



Source link