ख़बर सुनें

गौरीगंज (अमेठी)। शासन ने वित्तीय वर्ष में जिले को 213.99 करोड़ रुपये की लागत से कुल 243.213 किलोमीटर लंबी 33 नई सड़कों का तोहफा दिया है। शासन से स्वीकृति मिलने के बाद संबंधित विभाग द्वारा जहां 12 सड़कों का निर्माण कार्य शुरू हो गया है तो 21 सड़कों के निर्माण के लिए अनुबंध की कार्रवाई चल रही है।
वित्तीय वर्ष 2021-22 में शासन ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का रास्ता सुगम करने के लिए 243.213 किलोमीटर सड़क निर्माण की स्वीकृति दी है। इन सड़कों के निर्माण पर कुल 213 करोड़ 99 लाख रुपये का खर्च आएगा। इसमें से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत लोक निर्माण विभाग को करीब 116 किलोमीटर लंबी 16 सड़कें तो ग्रामीण अभियंत्रण विभाग को करीब 127 किलोमीटर लंबी 17 सड़कों का निर्माण कराने के लिए कार्यदायी संस्था नामित किया है।
प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति मिलने के बाद संबंधित विभाग द्वारा मार्ग निर्माण की प्रक्रिया शुरू कराई गई। पीएमजीएसवाई द्वारा 12 सड़कों का निर्माण कार्य शुरू भी कर दिया गया है। जबकि इसी विभाग की चार तो ग्रामीण अभियंत्रण विभाग की 17 सड़कों का निर्माण कार्य शुरू कराने के लिए अनुबंध आदि की कार्रवाई चल रही है। इन सड़कों से बनने से कई गांव मुख्य मार्ग से सीधा जुड़ जाएंगे।
सीडीओ डॉ. अंकुर लाठर ने बताया कि शासन से स्वीकृति मिलने के बाद प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क के तहत स्वीकृत 16 सड़कों में से 12 पर काम चल रहा है। शेष पर भी जल्द काम शुरू होगा। मानक के अनुरूप निर्माण कार्य कराने के लिए नियमित स्थलीय निरीक्षण किया जा रहा है। 33 मार्गों के बनने से कई गांवों के लोग सीधे मुख्य मार्गों से जुड़ जाएंगे।

गौरीगंज (अमेठी)। शासन ने वित्तीय वर्ष में जिले को 213.99 करोड़ रुपये की लागत से कुल 243.213 किलोमीटर लंबी 33 नई सड़कों का तोहफा दिया है। शासन से स्वीकृति मिलने के बाद संबंधित विभाग द्वारा जहां 12 सड़कों का निर्माण कार्य शुरू हो गया है तो 21 सड़कों के निर्माण के लिए अनुबंध की कार्रवाई चल रही है।

वित्तीय वर्ष 2021-22 में शासन ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का रास्ता सुगम करने के लिए 243.213 किलोमीटर सड़क निर्माण की स्वीकृति दी है। इन सड़कों के निर्माण पर कुल 213 करोड़ 99 लाख रुपये का खर्च आएगा। इसमें से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत लोक निर्माण विभाग को करीब 116 किलोमीटर लंबी 16 सड़कें तो ग्रामीण अभियंत्रण विभाग को करीब 127 किलोमीटर लंबी 17 सड़कों का निर्माण कराने के लिए कार्यदायी संस्था नामित किया है।

प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति मिलने के बाद संबंधित विभाग द्वारा मार्ग निर्माण की प्रक्रिया शुरू कराई गई। पीएमजीएसवाई द्वारा 12 सड़कों का निर्माण कार्य शुरू भी कर दिया गया है। जबकि इसी विभाग की चार तो ग्रामीण अभियंत्रण विभाग की 17 सड़कों का निर्माण कार्य शुरू कराने के लिए अनुबंध आदि की कार्रवाई चल रही है। इन सड़कों से बनने से कई गांव मुख्य मार्ग से सीधा जुड़ जाएंगे।

सीडीओ डॉ. अंकुर लाठर ने बताया कि शासन से स्वीकृति मिलने के बाद प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क के तहत स्वीकृत 16 सड़कों में से 12 पर काम चल रहा है। शेष पर भी जल्द काम शुरू होगा। मानक के अनुरूप निर्माण कार्य कराने के लिए नियमित स्थलीय निरीक्षण किया जा रहा है। 33 मार्गों के बनने से कई गांवों के लोग सीधे मुख्य मार्गों से जुड़ जाएंगे।



Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: