ख़बर सुनें

इटावा। इटावा-मैनपुरी रेलवे ट्रैक से ओएचई तार व अन्य सामान चुराने में आरपीएफ ने सात लोगों को पकड़ लिया। आरोपियों में दो कबाड़ी भी शामिल हैं, जो चोरी का सामान खरीदते थे। इनके पास से एक कार और चोरी का सामान बरामद हुआ है।
आरपीएफ पोस्ट के निरीक्षक गजेंद्र पाल सिंह ने बताया ने बताया कि छह और 28 सितंबर व 18 अक्तूबर को इटावा- मैनपुरी रेलवे ट्रैक से ओएचई तार और बैलेंस वेट चोरी हुए थे। इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही थी। गुरुवार को सूचना मिली कि आरोपी चोरी का सामान बेचने बोलेरो से कहीं जा रहे हैं। इस पर आरपीएफ दस्ते के साथ, प्रयागराज और टूंडला से आई टीम ने जसवंतनगर पहुंचकर ओवरब्रिज के पास से कार सवार सात लोगों को पकड़ लिया। वह चोरी का सामान कबाड़ी को बेचने जा रहे थे।
इंस्पेक्टर ने बताया कि नौ बैलेंस वेट और ओएचई का करीब सौ मीटर तार बरामद हुआ है। इसकी कीमत 53 हजार रुपये है। आरोपियों में सत्यपाल सिंह, ब्रजेश कुमार, स्वदेश उर्फ छोटू, रविकांत उर्फ गोरेलाल, कबाड़ी अब्दुल हासिम और शांती प्रसाद शामिल हैं। सभी जसवंतनगर के रहने वाले हैं। सरगना मुन्ना है, जो पहले भी जेल जा चुका है।
कबाड़ी के यहां से वेट, ओएचई तार बरामद हुआ है। टीम में आरपीएफ के एसआई हीराचंद मीना, सत्यदेव यादव, एएसआई विजय कुमार, सलबीर सिंह, प्रयागराज से आई स्पेशल टीम में अमित चौधरी व टूंडला की आरपीएफ की डिटेक्टिव विंग के एसआई विनोद गौतम, आरडी यादव शामिल रहे। पकड़े गए आरोपियों को रेलवे कोर्ट अलीगढ़ भेजा गया है। बोलेरो मालिक घटना के बाद से फरार है।

इटावा। इटावा-मैनपुरी रेलवे ट्रैक से ओएचई तार व अन्य सामान चुराने में आरपीएफ ने सात लोगों को पकड़ लिया। आरोपियों में दो कबाड़ी भी शामिल हैं, जो चोरी का सामान खरीदते थे। इनके पास से एक कार और चोरी का सामान बरामद हुआ है।

आरपीएफ पोस्ट के निरीक्षक गजेंद्र पाल सिंह ने बताया ने बताया कि छह और 28 सितंबर व 18 अक्तूबर को इटावा- मैनपुरी रेलवे ट्रैक से ओएचई तार और बैलेंस वेट चोरी हुए थे। इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही थी। गुरुवार को सूचना मिली कि आरोपी चोरी का सामान बेचने बोलेरो से कहीं जा रहे हैं। इस पर आरपीएफ दस्ते के साथ, प्रयागराज और टूंडला से आई टीम ने जसवंतनगर पहुंचकर ओवरब्रिज के पास से कार सवार सात लोगों को पकड़ लिया। वह चोरी का सामान कबाड़ी को बेचने जा रहे थे।

इंस्पेक्टर ने बताया कि नौ बैलेंस वेट और ओएचई का करीब सौ मीटर तार बरामद हुआ है। इसकी कीमत 53 हजार रुपये है। आरोपियों में सत्यपाल सिंह, ब्रजेश कुमार, स्वदेश उर्फ छोटू, रविकांत उर्फ गोरेलाल, कबाड़ी अब्दुल हासिम और शांती प्रसाद शामिल हैं। सभी जसवंतनगर के रहने वाले हैं। सरगना मुन्ना है, जो पहले भी जेल जा चुका है।

कबाड़ी के यहां से वेट, ओएचई तार बरामद हुआ है। टीम में आरपीएफ के एसआई हीराचंद मीना, सत्यदेव यादव, एएसआई विजय कुमार, सलबीर सिंह, प्रयागराज से आई स्पेशल टीम में अमित चौधरी व टूंडला की आरपीएफ की डिटेक्टिव विंग के एसआई विनोद गौतम, आरडी यादव शामिल रहे। पकड़े गए आरोपियों को रेलवे कोर्ट अलीगढ़ भेजा गया है। बोलेरो मालिक घटना के बाद से फरार है।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: