ख़बर सुनें

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय की स्नातक प्रथम वर्ष के द्वितीय सेमेस्टर (बीए, बीएससी व बीकॉम पाठ्यक्रमों) की परीक्षाएं 13 अगस्त से कराई जाएंगी। तैयारियों के संबंध में बृहस्पतिवार को प्रभारी कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक की अध्यक्षता में बृहस्पति भवन में बैठक हुई। तय किया गया कि नोडल केंद्रों पर इस बार स्ट्रांग रूम की व्यवस्था अलग होगी। स्ट्रांग रूम में अब प्रश्नपत्र के अलावा कुछ और नहीं रखा जाएगा।  
   

लिया गया ये निर्णय 

सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि परीक्षा शुरू होने के पहले दिन से ही प्रत्येक नोडल केंद्र पर एक डिजिटल लॉक आरएफआईडी (रेडियो फ्रिक्वेंसी आईडेंटिफिकेशन) की व्यवस्था की जाएगी। 10 अगस्त को सभी नोडल केंद्रों के प्रभारियों के साथ बैठक होगी। उनके साथ परीक्षा की तैयारियों पर चर्चा की जाएगी। परीक्षा समिति की बैठक आठ अगस्त को प्रस्तावित है। यह भी तय हुआ कि आवासीय इकाई की परीक्षाओं के संचालन के लिए एक वरिष्ठ प्रोफेसर को परीक्षा नियंत्रक (आवासीय इकाई) का प्रभार दिया जाएगा, जिससे परीक्षाएं सुचारु रूप से कराई जा सकें।

बैठक में ये रहे मौजूद 

बैठक में प्रति कुलपति प्रो. अजय तनेजा, कुलसचिव डॉ. विनोद कुमार सिंह, परीक्षा नियंत्रक ओम प्रकाश, वित्त अधिकारी सत्येंद्र कुमार, डीन अकादमिक प्रो. संजीव कुमार, प्रो. प्रदीप श्रीधर, प्रो. संजय चौधरी, प्रो. मनु प्रताप सिंह और सहायक कुलसचिव ममता सिंह की उपस्थिति रही। 

कंट्रोल रूम से न जुड़ने वाले कॉलेज केंद्र नहीं बनेंगे

बैठक में तय किया गया कि गत परीक्षा में सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से जो भी परीक्षा केंद्र विश्वविद्यालय में स्थापित कंट्रोल से नहीं जुड़े थे, उन कॉलेजों को इस बार परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा। आगरा और अलीगढ़ मंडल के परीक्षा केंद्रों के लिए अलग-अलग कंट्रोल रूम बनाए गए थे, कंट्रोल रूम प्रभारियों ने सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से न जुड़ने वाले केंद्रों की सूची बना रखी है। 

विस्तार

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय की स्नातक प्रथम वर्ष के द्वितीय सेमेस्टर (बीए, बीएससी व बीकॉम पाठ्यक्रमों) की परीक्षाएं 13 अगस्त से कराई जाएंगी। तैयारियों के संबंध में बृहस्पतिवार को प्रभारी कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक की अध्यक्षता में बृहस्पति भवन में बैठक हुई। तय किया गया कि नोडल केंद्रों पर इस बार स्ट्रांग रूम की व्यवस्था अलग होगी। स्ट्रांग रूम में अब प्रश्नपत्र के अलावा कुछ और नहीं रखा जाएगा।  

   

लिया गया ये निर्णय 

सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि परीक्षा शुरू होने के पहले दिन से ही प्रत्येक नोडल केंद्र पर एक डिजिटल लॉक आरएफआईडी (रेडियो फ्रिक्वेंसी आईडेंटिफिकेशन) की व्यवस्था की जाएगी। 10 अगस्त को सभी नोडल केंद्रों के प्रभारियों के साथ बैठक होगी। उनके साथ परीक्षा की तैयारियों पर चर्चा की जाएगी। परीक्षा समिति की बैठक आठ अगस्त को प्रस्तावित है। यह भी तय हुआ कि आवासीय इकाई की परीक्षाओं के संचालन के लिए एक वरिष्ठ प्रोफेसर को परीक्षा नियंत्रक (आवासीय इकाई) का प्रभार दिया जाएगा, जिससे परीक्षाएं सुचारु रूप से कराई जा सकें।

बैठक में ये रहे मौजूद 

बैठक में प्रति कुलपति प्रो. अजय तनेजा, कुलसचिव डॉ. विनोद कुमार सिंह, परीक्षा नियंत्रक ओम प्रकाश, वित्त अधिकारी सत्येंद्र कुमार, डीन अकादमिक प्रो. संजीव कुमार, प्रो. प्रदीप श्रीधर, प्रो. संजय चौधरी, प्रो. मनु प्रताप सिंह और सहायक कुलसचिव ममता सिंह की उपस्थिति रही। 


कंट्रोल रूम से न जुड़ने वाले कॉलेज केंद्र नहीं बनेंगे

बैठक में तय किया गया कि गत परीक्षा में सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से जो भी परीक्षा केंद्र विश्वविद्यालय में स्थापित कंट्रोल से नहीं जुड़े थे, उन कॉलेजों को इस बार परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा। आगरा और अलीगढ़ मंडल के परीक्षा केंद्रों के लिए अलग-अलग कंट्रोल रूम बनाए गए थे, कंट्रोल रूम प्रभारियों ने सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से न जुड़ने वाले केंद्रों की सूची बना रखी है। 



Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: