उत्तर प्रदेश जालौन

सट्टा माफियाअों की बल्ले-बल्ले, पुलिस बनी मूकदर्शक

उरई (जालौन)।(गोविंद सिंह दाऊ):-। आईपीएल सीजन में आईपीएल सट्टा माफियाअों की बल्ले – बल्ले है । क्योकि सट्टा माफिया इस सीजन मे लाखों नही करोड़ो रूपयें कमा रहे है।
सूत्रों की मानें तो शहर के प्रसिद्ध मोहल्ला गोपाल गंज बैण्ड़ मण्ड़ी मे कोंच रोड़ एक ग्राम का निवासी जो किरायें पर कमरा ले कर रह रहा है। उक्त ब्यक्ति के पास बगैर नम्बर की ब्हाइट एक्टिवा स्कूटी है । जो कई बर्षो से सट्टे के कार्य मे लिप्त है। जो जुआ, सट्टे के अतिरिक्त अन्य कोई कार्य नही करता है। उक्त ब्यक्ति ने सब्जी मण्ड़ी एक अय्याशी का अड्डा बना रखा है। उक्त सट्टा माफिया शहर के टाॅप टेन सट्टा माफियाअों मे से एक है। इतना ही नही उक्त सट्टा माफिया के नीचे छोटे-छोटे सट्टा माफिया अपनी नैया पार कर रहे है। इस सीजनेबिल सट्टा मे किसी भी प्रकार का व्यवधान न पड़े। इसको लेकर सट्टा माफिया अब नई- नई टेक्नोलॉजी से सट्टा लगवाया जा रहा है। उक्त सट्टा माफिया ग्राहको के एंड्रवाइड मोबाइल मे एप डलवाकर सट्टा खिलवा रहा है। उक्त सट्टा माफिया का साला गत बर्ष क्राइम ब्रांच के हत्थे चढा था इस दारू बाज सट्टा माफिया के खेल मे स्कूली छात्र, नवयुवक तथा भोले भाले लोग फंस जाते है। उक्त सट्टा माफिया बिना मेहनत के लखपति बनाने ख्याब दिखाता है। जिसपर लोग भारोसा कर अपनी मेहनत की गाढ़ी कमाई गवा देते है। अौर कुछ लोग साहूकारों से उधार रूपयें लेने को तथा कुछ गलत कार्य करने को मजबूर हो जाते है। एेसा नही है कि उक्त ब्यक्ति की जानकारी स्थानीय पुलिस को न हो लेकिन उक्त सट्टा माफिया के कोतवाली पुलिस के सिपाहियों से लेकर क्राइम ब्रांच के सिपाहियों से सम्बन्ध है। इतना ही इस सट्टा माफिया के नगर एक दबंग सभासद प्रतिनिधि से भी अच्छे सम्बन्ध बताये जाते है। शहर की जनता ने न्यायप्रिय पुलिस अधीक्षक से मांग की कि उक्त सट्टा माफिया पर कड़ी कार्यवाही कर जेल भेजा जाये।