ख़बर सुनें

मथुरा। राधे राधे और जय कन्हैयालाल की जयकार के साथ ब्रज रज उत्सव में शामिल हुई अभिलिप्सा पांडा ने रविवार शाम को अपनी प्रस्तुति ने समां बांध दिया। उन्होंने प्रभु श्रीकृष्ण के साथ भगवान शिव के भजनों की ऐसी जुगलबंदी बनाई कि लोग झूम उठे। शुरुआत शंभू-शंभू कहती है यह मेरी जुबां से की…। दर्शकों की मांग पर अभिलिप्सा पांडा ने इस प्रस्तुति को एक बार फिर दोहराया।
एक के बाद एक शिव की प्रस्तुति पर उन्होंने ऐसा समा बांधा कि लोग पांडा के स्वर के साथ स्वर मिलाने लगे। सांसद हेमा मालिनी ने भी मंच पर पहुंचकर अभिलिप्सा को पुष्प भेंट किए। विधायक पूरन प्रकाश ने स्वागत किया। अभिलिप्सा ने कहा कि बांकेबिहारीजी की इच्छा से यह संभव हो पाया कि मथुरा में आ सकी।
इससे पूर्व उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद, पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन के तत्वावधान में आयोजित इस उत्सव में स्थानीय और बाहरी शास्त्रीय कलाकारों ने भी अपनी कला प्रतिभा का प्रदर्शन किया। सांसद हेमा मालिनी इन कलाकारों का उत्साह बढ़ाया। ब्रजरज उत्सव में पहला कार्यक्रम कान्हा एकेडमी ने प्रस्तुत किया। वृंदावन की कान्हा एकेडमी के कलाकारों ने लोक संगीत और लोक नृत्य प्रस्तुत किया। दूसरी प्रस्तुति मुकेश कौशिक और मयूर कौशिक ने दी। इन्होंने अपनी शास्त्रीय संगीत की रचना धमार आदि प्रस्तुत की। इन्होंने अपनी रचना- कामर खोय गयी रे ओ मैया, गाय चरावत जात वृंदावन….सुनाई। हरदोई से आए शुक्ला बंधुओं ने गिटार की जुगलबंदी के साथ अपनी प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्र, सीईओ नागेंद्र प्रताप, डिप्टी सीईओ पंकज वर्मा आदि मौजूद रहे।

मथुरा। राधे राधे और जय कन्हैयालाल की जयकार के साथ ब्रज रज उत्सव में शामिल हुई अभिलिप्सा पांडा ने रविवार शाम को अपनी प्रस्तुति ने समां बांध दिया। उन्होंने प्रभु श्रीकृष्ण के साथ भगवान शिव के भजनों की ऐसी जुगलबंदी बनाई कि लोग झूम उठे। शुरुआत शंभू-शंभू कहती है यह मेरी जुबां से की…। दर्शकों की मांग पर अभिलिप्सा पांडा ने इस प्रस्तुति को एक बार फिर दोहराया।

एक के बाद एक शिव की प्रस्तुति पर उन्होंने ऐसा समा बांधा कि लोग पांडा के स्वर के साथ स्वर मिलाने लगे। सांसद हेमा मालिनी ने भी मंच पर पहुंचकर अभिलिप्सा को पुष्प भेंट किए। विधायक पूरन प्रकाश ने स्वागत किया। अभिलिप्सा ने कहा कि बांकेबिहारीजी की इच्छा से यह संभव हो पाया कि मथुरा में आ सकी।

इससे पूर्व उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद, पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन के तत्वावधान में आयोजित इस उत्सव में स्थानीय और बाहरी शास्त्रीय कलाकारों ने भी अपनी कला प्रतिभा का प्रदर्शन किया। सांसद हेमा मालिनी इन कलाकारों का उत्साह बढ़ाया। ब्रजरज उत्सव में पहला कार्यक्रम कान्हा एकेडमी ने प्रस्तुत किया। वृंदावन की कान्हा एकेडमी के कलाकारों ने लोक संगीत और लोक नृत्य प्रस्तुत किया। दूसरी प्रस्तुति मुकेश कौशिक और मयूर कौशिक ने दी। इन्होंने अपनी शास्त्रीय संगीत की रचना धमार आदि प्रस्तुत की। इन्होंने अपनी रचना- कामर खोय गयी रे ओ मैया, गाय चरावत जात वृंदावन….सुनाई। हरदोई से आए शुक्ला बंधुओं ने गिटार की जुगलबंदी के साथ अपनी प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्र, सीईओ नागेंद्र प्रताप, डिप्टी सीईओ पंकज वर्मा आदि मौजूद रहे।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: