उत्तर प्रदेश जालौन

दबंगों ने पटटे की जमीन पर कब्जा कर, महिला को पीटा

उरई (जालौन)। रामपुरा थाना क्षेत्र के अंर्तगत ग्राम हुसेपुरा जागीर में गांव के दबंगों ने पट्टे की जमीन पर जबरन कब्जा करने के साथ ही विरोध करने आई महिला के साथ जमकर मारपीट कर डाली। घटना की सूचना पीड़ित पक्ष पुलिस को दी।
पृथ्वीराज पुत्र स्व बालकिशुन ग्राम हुसेपुरा जागीर थाना रामपुरा ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि मेरे पिता को करीब आज के 20 साल पहले ग्राम प्रधान सुखराम सिंह सेंगर ने आबादी भूम पर पट्टा दिया था ।जिस पर संतोष पुत्र नाथू व विनोद कुमार पुत्र गंगाराम ने कब्जा कर लिया है।जिसकी शिकायत मैने उपजिलाधिकारी को 12-04 2019 को प्रार्थना पत्र देकर की थी कि हमारी जगह पर जबरन संतोष पुत्र नाथू व उनके लड़के कब्जा कर मकान बना रहे है तो एसडीएम ने थाना रामपुरा व लेखपाल महोदय को डांक द्वारा आदेश जारी किया गया है।लेकिन जिसकी बात मैने सन्तोष पुत्र नाथू व उनके तीनों पुत्रों को कहा कि दो दिन के बाद आप काम कर लेना क्योंकि मैंने उपजिलाधिकारी को पार्थना पत्र दिया उन्होंने मुझे अस्वासन दिया कि दो दिन के बाद आपके घर पुलिस व लेखपाल महोदय आयेंगे और तुम्हारे पटटे की नापतोल कर दिया जाएगा।लेकिन विरोधी पक्ष न मानने के कारण मुझे ओर मेरी विधवा मां की मारपीट करडाली जिसकी शिकायत मैने 100 नंबर पर दर्ज कराई। इसके बाद मुझे व संतोष को पकड़ कर लाये।लेकिन उनके लड़को को नहीं पकड़ा और उन्होने रात मैं ही मकान बनाकर खड़ा कर लिया।जबकि मेरे सिर पर चोट थी लिकेन पुलिस ने तत्काल इलाज नहीं कराया।आज करीब 20 घण्टे बीत जाने के बाद समुदाय स्वास्थ्य केंद्र रामपुरा ले गए।तब मेरी जांच कराई गई।तो इस लिये मैं शासन से पूछना चाहता हूं कि जिन लोगों ने मारपीट की उन लोगों को गिरफ्तार क्यों नही किया गया और प्रशसन ने जबरदस्त तरीक़े से गलत प्रभाव डाला है और प्रशासन ने मकान रात मैं ही बनवा दिया है।क्या प्रशासन को लोकतंत्र का जरा भी ख्याल नहीं रख रहा है।पीड़ित ने शासन और प्रशासन से मांग की है कि आरोपियों के ऊपर मुकदमा दर्ज कर न्याय दिलवाया जाये। पीड़ित बताया कि आरोपी मेरी बिधवा माँ को संतोष के लड़कों ने मारपीट की ओर जानमाल की धमकी दी है।