पच्चीस वर्ष से सरकारी आवास पाने के लिए भटक रहा दलित
० जिलाधिकारी से लेकर अन्य अधिकारियों तक से लगाई गुहार
उरई (जालौन)। डकोर विकास खंड़ क्षेत्र के अंर्तगत पड़ने वाले ग्राम करमेर निवासी दलित जो कि पात्रता की श्रेणी में भी आता है जो लगभग पच्चीस वर्ष से सरकारी आवास पाने के लिए अधिकारियों की चौखट पर चक्कर काट रहा है फिर सरकारी आवास पाने से मोहताज है जबकि उक्त दलित का कच्चा मकान और सरकारी आवास पाने की पात्रता सूची में आता है फिर भी आवास पाने से वंचित घूम रहा है।
डकोर विकास खण्ड के ग्राम करमेर निवासी श्रीमती अरना देवी पत्नी मलखान ने आज मंगलवार को जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि उसके पास कच्चा और जर्जर हालत में मकान है तथा मेहनत मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करती है गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अपात्र लोगों को आवास दिलाया जा रहा है जिसमें ग्राम प्रधान और सचिव की मिली भगत से सारा खेल चल रहा है जबकि प्रार्थनी ने आवास पाने के लिए कई आवेदन भी दिये इसके बाद भी आज तक सरकारी आवास उपलब्ध नहीं करवाया जा सका है। पीड़ित ने जिलाधिकारी से मांग की है कि मौके प्रधानमंत्री आवास योजना की जांच करवा कर प्रार्थनी को प्रधानमंत्री आवास दिलवाया जाये।

0Shares
%d bloggers like this: