एसपी कमलेश दीक्षित

एसपी कमलेश दीक्षित
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

मैनपुरी के थाना औंछा की ईसई चौकी पर तैनात दरोगा ने एक मामले में एक लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। इसका ऑडियो दो दिन पूर्व सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। उक्त मामले में एसपी ने दरोगा को निलंबित करते हुए विभागीय जांच के आदेश दिए हैं।

कस्बा की ईसई खास चौकी पर तैनात दरोगा पृथ्वी सिंह का एक ऑडियो दो दिन पूर्व सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। उक्त वीडियो में वह एक व्यक्ति से एक मामले के निस्तारण के लिए एक लाख रुपये की रिश्वत की मांग कर रहे थे। मामले में गांव गोपालपुर निवासी राजीव कुमार ने एसपी कमलेश दीक्षित को प्रार्थना पत्र देकर रिश्वत मांगने वाले दरोगा के विरुद्ध कार्रवाई व मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की थी। 

वहीं दरोगा की ऑडियो भी उपलब्ध कराया गया था। एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच कराई, तो प्रथम दृष्टयता दरोगा पर लगे आरोप सही पाए गए। इसके बाद बृहस्पतिवार को दरोगा पृथ्वी सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। एसपी ने साफ कर दिया कि विभागीय में रिश्वतखोरी, लापरवाही व कार्य में शिथिलता कतई बर्दाश्त नहीं होगी। जो भी ऐसा करेगा, उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। दरोगा के विरुद्ध विभागीय जांच भी की जा रही है।

यह था पूरा मामला

गोपालपुर निवासी राजीव ने बताया कि छोटे भाई आशाराम, भतीजे मानवेंद्र व श्याम सुंदर के विरुद्ध विपक्षियों ने एक झूठा मुकदमा दर्ज कराया है। यह षडयंत्र प्रधानी चुनाव की रंजिश को लेकर रचा गया है, खेत से ट्रैक्टर निकालने के विवाद को बढ़ा चढ़ाकर पेश किया गया है। उसका एक भतीजा डीएलएड का छात्र है, फिर भी पुलिस इस मामले में उनकी कोई बात सुनने को तैयार नहीं है। राजीव ने बताया कि जांच कर रहे दरोगा ने एक लाख रुपया की रिश्वत मांगी है, इसकी ऑडियो रिकॉर्डिंग भी अधिकारी को उपलब्ध कराई थी। एसपी ने शिकायतकर्ता को कार्रवाई का आश्वासन दिया था।

ये भी पढ़ें – Mainpuri: किशोरी को बहाने से ले गया अपने घर, फिर की घिनौनी हरकत

बिना अनुमति नहीं छोड़ सकेंगे मुख्यालय

एसपी कमलेश दीक्षित की ओर से दरोगा को निलंबित करने के साथ विभागीय जांच के निर्देश दिए हैं। वहीं जांच प्रक्रिया के दौरान लाइन में स्थित आवास में ही निवास करने को कहा गया है, बिना पूर्व अनुमति प्राप्त किए दरोगा पृथ्वी सिंह को मुख्यालय न छोडने की हिदायत भी दी गई है।

ये बोले एसपी

एसपी मैनपुरी कमलेश दीक्षित ने बताया कि सोशल मीडिया पर एक ऑडियो वायरल हुआ था, उक्त मामले में दरोगा के विरुद्ध निलंबन की कार्रवाई की गई है, विभागीय जांच के बाद अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

विस्तार

मैनपुरी के थाना औंछा की ईसई चौकी पर तैनात दरोगा ने एक मामले में एक लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। इसका ऑडियो दो दिन पूर्व सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। उक्त मामले में एसपी ने दरोगा को निलंबित करते हुए विभागीय जांच के आदेश दिए हैं।

कस्बा की ईसई खास चौकी पर तैनात दरोगा पृथ्वी सिंह का एक ऑडियो दो दिन पूर्व सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। उक्त वीडियो में वह एक व्यक्ति से एक मामले के निस्तारण के लिए एक लाख रुपये की रिश्वत की मांग कर रहे थे। मामले में गांव गोपालपुर निवासी राजीव कुमार ने एसपी कमलेश दीक्षित को प्रार्थना पत्र देकर रिश्वत मांगने वाले दरोगा के विरुद्ध कार्रवाई व मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की थी। 

वहीं दरोगा की ऑडियो भी उपलब्ध कराया गया था। एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच कराई, तो प्रथम दृष्टयता दरोगा पर लगे आरोप सही पाए गए। इसके बाद बृहस्पतिवार को दरोगा पृथ्वी सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। एसपी ने साफ कर दिया कि विभागीय में रिश्वतखोरी, लापरवाही व कार्य में शिथिलता कतई बर्दाश्त नहीं होगी। जो भी ऐसा करेगा, उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। दरोगा के विरुद्ध विभागीय जांच भी की जा रही है।

यह था पूरा मामला

गोपालपुर निवासी राजीव ने बताया कि छोटे भाई आशाराम, भतीजे मानवेंद्र व श्याम सुंदर के विरुद्ध विपक्षियों ने एक झूठा मुकदमा दर्ज कराया है। यह षडयंत्र प्रधानी चुनाव की रंजिश को लेकर रचा गया है, खेत से ट्रैक्टर निकालने के विवाद को बढ़ा चढ़ाकर पेश किया गया है। उसका एक भतीजा डीएलएड का छात्र है, फिर भी पुलिस इस मामले में उनकी कोई बात सुनने को तैयार नहीं है। राजीव ने बताया कि जांच कर रहे दरोगा ने एक लाख रुपया की रिश्वत मांगी है, इसकी ऑडियो रिकॉर्डिंग भी अधिकारी को उपलब्ध कराई थी। एसपी ने शिकायतकर्ता को कार्रवाई का आश्वासन दिया था।

ये भी पढ़ें – Mainpuri: किशोरी को बहाने से ले गया अपने घर, फिर की घिनौनी हरकत

बिना अनुमति नहीं छोड़ सकेंगे मुख्यालय

एसपी कमलेश दीक्षित की ओर से दरोगा को निलंबित करने के साथ विभागीय जांच के निर्देश दिए हैं। वहीं जांच प्रक्रिया के दौरान लाइन में स्थित आवास में ही निवास करने को कहा गया है, बिना पूर्व अनुमति प्राप्त किए दरोगा पृथ्वी सिंह को मुख्यालय न छोडने की हिदायत भी दी गई है।

ये बोले एसपी

एसपी मैनपुरी कमलेश दीक्षित ने बताया कि सोशल मीडिया पर एक ऑडियो वायरल हुआ था, उक्त मामले में दरोगा के विरुद्ध निलंबन की कार्रवाई की गई है, विभागीय जांच के बाद अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: