ख़बर सुनें

आगरा के जिला शिक्षा व प्रशिक्षण संस्थान (डायट) प्राचार्य ने शनिवार को नगर क्षेत्र के परिषदीय विद्यालयों का निरीक्षण किया। कक्षा चार के विद्यार्थी ब्लैक बोर्ड पर लिखी कहानी व सुनाओ जैसे शब्दों को नहीं पढ़ पाए। तीन अंकों की संख्या 158  व 173 को नहीं पढ़ सके। विद्यालयों में विद्यार्थियों की उपस्थिति भी कम मिली।
 
डायट प्राचार्य डॉ. इंद्र प्रकाश सिंह सोलंकी ने बताया कि उन्होंने प्राथमिक विद्यालय कन्या शिवपुरी व प्राथमिक विद्यालय राधा नगर, बल्केश्वर का निरीक्षण किया। प्राथमिक विद्यालय राधा नगर का भवन न होने से इसका संचालन शिवपुरी स्थित विद्यालय में ही किया जा रहा है। प्राथमिक विद्यालय शिवपुरी में पंजीकृत 62 में से महज 38 और प्राथमिक विद्यालय, राधा नगर में पंजीकृत 41 में से 27 विद्यार्थी उपस्थित रहे। विद्यार्थियों की कम उपस्थिति पर डायट प्राचार्य ने नाराजगी जताई और उपस्थिति बढ़ाने के निर्देश दिए। 

कमजोर छात्रों को विशेष ध्यान देने के निर्देश 

ब्लैक बोर्ड पर लिखे शब्दों व अंकों को विद्यार्थी नहीं पढ़ रहे थे और न समझ रहे थे। प्राचार्य ने कमजोर विद्यार्थियों को चिह्नित कर उन पर विशेष ध्यान देने के लिए निर्देश दिए। वहीं, प्रभारी प्रधानाध्यापिका नीता गुप्ता को निपुण लक्ष्य व मॉड्यूल की जानकारी होने और कठिन परिश्रम के लिए मौके पर प्रोत्साहन प्रमाणपत्र दिया गया। 

निपुण लक्ष्य सही नहीं लगा था, स्पष्टीकरण मांगा 

विद्यालय की कक्षाओं में निपुण लक्ष्य सही नहीं चस्पा था। त्रुटिपूर्ण चार्ट को मौके पर ही हटवाया गया। इसे एकेडमिक रिसोर्स पर्सन व एसआरजी की जिम्मेदारी मानते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। जिला समन्वयक प्रशिक्षण को डायट प्राचार्य की ओर से निर्देश दिया गया है कि वह सुनिश्चित करें कि किसी विद्यालय में निपुण चार्ट गलत चस्पा न हो। तीन अंदर के रिपोर्ट मांगी गई है।  

व्यवस्थाएं ठीक मिलने पर सराहा

डायट प्राचार्य ने संत रामकृष्ण कन्या महाविद्यालय का भी निरीक्षण किया। डीएलएड प्रशिक्षु पढ़ते हुए मिले। डायट प्राचार्य की ओर से पूछे गए विज्ञान व गणित के प्रश्नों के जवाब भी अधिकांश ने दिया। उन्होंने स्टाफ की ओर से किए गए जा रहे प्रयास की सराहना की और प्रशिक्षुओं का मार्गदर्शन भी किया।

विस्तार

आगरा के जिला शिक्षा व प्रशिक्षण संस्थान (डायट) प्राचार्य ने शनिवार को नगर क्षेत्र के परिषदीय विद्यालयों का निरीक्षण किया। कक्षा चार के विद्यार्थी ब्लैक बोर्ड पर लिखी कहानी व सुनाओ जैसे शब्दों को नहीं पढ़ पाए। तीन अंकों की संख्या 158  व 173 को नहीं पढ़ सके। विद्यालयों में विद्यार्थियों की उपस्थिति भी कम मिली।

 

डायट प्राचार्य डॉ. इंद्र प्रकाश सिंह सोलंकी ने बताया कि उन्होंने प्राथमिक विद्यालय कन्या शिवपुरी व प्राथमिक विद्यालय राधा नगर, बल्केश्वर का निरीक्षण किया। प्राथमिक विद्यालय राधा नगर का भवन न होने से इसका संचालन शिवपुरी स्थित विद्यालय में ही किया जा रहा है। प्राथमिक विद्यालय शिवपुरी में पंजीकृत 62 में से महज 38 और प्राथमिक विद्यालय, राधा नगर में पंजीकृत 41 में से 27 विद्यार्थी उपस्थित रहे। विद्यार्थियों की कम उपस्थिति पर डायट प्राचार्य ने नाराजगी जताई और उपस्थिति बढ़ाने के निर्देश दिए। 

कमजोर छात्रों को विशेष ध्यान देने के निर्देश 

ब्लैक बोर्ड पर लिखे शब्दों व अंकों को विद्यार्थी नहीं पढ़ रहे थे और न समझ रहे थे। प्राचार्य ने कमजोर विद्यार्थियों को चिह्नित कर उन पर विशेष ध्यान देने के लिए निर्देश दिए। वहीं, प्रभारी प्रधानाध्यापिका नीता गुप्ता को निपुण लक्ष्य व मॉड्यूल की जानकारी होने और कठिन परिश्रम के लिए मौके पर प्रोत्साहन प्रमाणपत्र दिया गया। 



Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: