ख़बर सुनें

उरई। सीएमओ डॉ. एनडी शर्मा ने गुरुवार को सीएमएस डॉ. अविनेश कुमार के साथ सभी ओपीडी कक्षों का निरीक्षण किया। सीएमओ ने कई रोगियों के पर्चे भी देखे। इसमें हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. दीपक आर्या ने बाहर से दवा लिखी थी। इस पर सीएमओ ने नाराजगी जताते हुए दीपक आर्या का वेतन रोककर स्पष्टीकरण मांगा है। ओपीडी में ईएनटी सर्जन डॉ. बीपी सिंह नहीं मिले। इस पर सीएमएस ने उनके अवकाश पर होने की बात कही।
फिजियोथैरेपी कक्ष में फिजियोथैरेपिस्ट एप्रिन नहीं पहने थीं, इस पर उन्हें ड्रेस कोड का पालन करने की हिदायत दी। रोगियों की भीड़ न लगाएं। इसके लिए अपॉइन्टमेंट रजिस्टर बनाएं एवं रोगियों को निर्धारित समय पर ही बुलाए ताकि उन्हें इंतजार न करना पड़े। डॉ. शक्ति मिश्रा को भीड़ नियंत्रित करने के लिए बारी-बारी मरीजों को बुलाने की हिदायत दी। उन्होंने बाहर की दवा और जांच न लिखने की भी हिदायत दी। उन्होंने रोगियों से पूछा कि किसी मरीज को बाहर की दवा तो नहीं लिखी जा रही या जांच तो बाहर कराने के लिए कहा जा रहा है। अधिकांश रोगियों एवं तीमारदारों ने इसकी शिकायत नहीं की।

उरई। सीएमओ डॉ. एनडी शर्मा ने गुरुवार को सीएमएस डॉ. अविनेश कुमार के साथ सभी ओपीडी कक्षों का निरीक्षण किया। सीएमओ ने कई रोगियों के पर्चे भी देखे। इसमें हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. दीपक आर्या ने बाहर से दवा लिखी थी। इस पर सीएमओ ने नाराजगी जताते हुए दीपक आर्या का वेतन रोककर स्पष्टीकरण मांगा है। ओपीडी में ईएनटी सर्जन डॉ. बीपी सिंह नहीं मिले। इस पर सीएमएस ने उनके अवकाश पर होने की बात कही।

फिजियोथैरेपी कक्ष में फिजियोथैरेपिस्ट एप्रिन नहीं पहने थीं, इस पर उन्हें ड्रेस कोड का पालन करने की हिदायत दी। रोगियों की भीड़ न लगाएं। इसके लिए अपॉइन्टमेंट रजिस्टर बनाएं एवं रोगियों को निर्धारित समय पर ही बुलाए ताकि उन्हें इंतजार न करना पड़े। डॉ. शक्ति मिश्रा को भीड़ नियंत्रित करने के लिए बारी-बारी मरीजों को बुलाने की हिदायत दी। उन्होंने बाहर की दवा और जांच न लिखने की भी हिदायत दी। उन्होंने रोगियों से पूछा कि किसी मरीज को बाहर की दवा तो नहीं लिखी जा रही या जांच तो बाहर कराने के लिए कहा जा रहा है। अधिकांश रोगियों एवं तीमारदारों ने इसकी शिकायत नहीं की।



Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: