उत्तर प्रदेश जालौन

आँख आँपरेशन के मामले में तीसरी बार प्रदेश में पहला स्थान पाया डा. आरपी सिंह ने

० जून माह में लखनऊ में किया जायेगा सम्मानित

उरई (जालौन)(।गोविंद सिंह दाऊ):- ।राष्ट्रीय अंधता निवारण कार्यक्रम में जनपद जालौन के नेत्र सर्जन डा. आर. पी. सिंह ने समूचे उत्तर प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त कर जनपद ही समूचे बुदेलखण्ड का नाम रोशन करने में कामयाबी हासिल कर दिखाई है।इस वर्ष में 3422 आँख के आँपरेशन कर पहला स्थान प्रदेश में हासिल करने में सफलता प्राप्त की है।जबकि दूसरे स्थान पर आगरा में तैनात डा. आनंद उपाध्याय रहे उन्होंने 2867 आँपरेशन किये।जबकि तीसरा स्थान झांसी के डाक्टर प्रभात चौरसिया ने प्राप्त किया है। जिन्होंने 2472 आँपरेशन किये।इसके अलावा जनपद जालौन के ही डाक्टर आर. पी. राजपूत भी टाँप 50 डाक्टरों की सूची में शामिल किये गये है।जिन्हें 45 वां स्थान प्राप्त किया है उन्होंने 934 आँपरेशन किये।
बताते चले कि हमीरपुर जनपद के राठ निवासी डा. आर. पी. सिंह जिला चिकित्सालय में वरिष्ठ परामर्शदाता एवं नेत्र सर्जन के रूप में तैनात है।डा. आर. पी. सिंह की तैनाती वर्ष 2007 में नेत्र सर्जन के रूप में हुई थी।उनकी कार्य कुशलता एवं मधुर वाणी के चलते उनके कक्ष में मरीजों की भीड़ का तांता हर समय लगा रहता है।हाल यह कि पिछले तीन सालों से वह लगातार प्रदेश में पहला स्थान हासिल करते चले आ रहे है।इस बार भी उन्होंने
सर्वाधिक आँखों के आँपरेशन में पहला स्थान प्राप्त किया है। इस सम्बंध में वरिष्ठ नेत्र सर्जन डा. आर. पी. सिंह बताते है कि पूरे प्रदेश में सभी नेत्र सर्जन को 700 आँपरेशन का लक्ष्य दिया जाता है।उन्होने लगातार लक्ष्य को पूरा करते हुए इससे अधिक आँपरेशन का लक्ष्य पूरा कर दिखाया है। इस वर्ष 3422 आँख के आँपरेशन कर प्रदेश में पहला स्थान हासिल कर जनपद जालौन का गौरव बढाये जाने का काम कर दिखाया है।इसके पहले भी उन्हें स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों एवं राज्यपाल से भी सम्मान प्राप्त हो चुका है।अब जून माह में प्रदेश की राजधानी लखनऊ में फिर से पहला स्थान पाये जाने पर सम्मानित किया जायेगा। वरिष्ठ नेत्र सर्जन डा. आर. पी. सिंह को आँख आँपरेशन के मामले में प्रदेश में तीसरी बार प्रथम स्थान मिलने पर उनके शुभचिंतकों द्वारा बधाई देने का तांता लगा हुआ देखा जा रहा है। डा. आर. पी. सिंह को बधाई देने वालों में समाजसेवी यूसुफ अंसारी अलमारी वाले, हलीम अंसारी, रियाज अहमद, हाजी शोएब अंसारी, नासिर अंसारी आदि शामिल रहे।

Leave a Reply