उत्तर प्रदेश जालौन

खुले मैं रखे ट्रांसफार्मर दे रहे हादसों को दावत

० कई बार हो चुके बड़े हादसे पर प्रशासन ने नहीं लिया कोई सबक

०खुले में रखे ट्रांसफार्मर से जा चुकी है लोगों और कई जानवरों की जान

० जाली के जगह विभाग ने लगा रखे ट्रांसफार्मर के आसपास पेड़ पौधे

उरई (जालौन) (गोविंद सिंह दाऊ):- विद्युत विभाग की लापरवाही आए दिन देखने को मिलती रहती अगर बड़े बड़े हादसों के पीछे देखा जाए तो विद्युत विभाग की लापरवाही सामने आती विद्युत विभाग की लापरवाही कब तक चलती रहेगी इंसान और जानवर की जान कब जाती रहेगी प्रशासन अपनी लापरवाही में सुधार लाने की कोशिश नहीं कर रहा और लोगों को विद्युत विभाग की लापरवाही से बहुत परेशानी हो रही विद्युत विभाग की लापरवाही के कारण अब तक कई लोगों जानवरों की जान जा चुकी है पर विभाग ने मामले को अभी तक संज्ञान नहीं लिया अगर संज्ञान लिया होता तो अपनी लापरवाही के चलते
सड़क के मेन चौराहे पर बीच में खुले रखे ट्रांसफार्मर से कई जानवर चिपक के अपनी जान से हाथ धो चुके हैं लेकिन विभाग ने अभी तक उन ट्रांसफार्मरों के अगल-बगल जाली लगाने काम नहीं किया इतनी लापरवाही आखिर प्रशासन क्यों कर रहा है अभी तक खुले ट्रांसफार्मर से चिपक कर के गायो की मौत हो चुकी है जहां गायों की रक्षा के लिए लाखों करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं गौशाला बनवाई जा रही हैं शासन-प्रशासन जोरो पर मेहनत कर रहा वहीं दूसरी ओर विद्युत विभाग अपनी लापरवाही सिद्ध करके उन गायों की जान से खिलवाड़ कर रहा है जहां सूबे के मुखिया एक और गायों की खुद सुबह शाम सेवा करते हैं गायों को अपनी मां मानते हैं वहीं दूसरी विद्युत विभाग गायों की जान की परवाह न करते हुए अपनी लापरवाही से रोज कोई ना कोई गाय की जान ले लेता है अगर प्रशासन अपनी लापरवाही में थोड़ी भी कमी लाएगा तो शायद उन गायों की जान ना जाए आपने देखा होगा कि कोई दुर्घटना ना हो तो ट्रांसफर के आस पास जाली लगाई जाती है पर उरई के ज्यादातर ट्रांसफॉर्मर के आस पास जाली की जगह पेड़ पौधे लगे हुए हैं पेड़ पौधे एक-दो दिन से नहीं कई महीनों और सालों से लगे हुए हैं जिससे पेड़ पौधे लगे लगे लगे वहीं सूख जाते और अगर ट्रांसफार्मर में छोटी मोटी चिंगारी उठती है तो पेड़ पौधों में आग लग जाती ट्रांसफार्मर के साथ-साथ बिजली के तार भी जलने लगते जिसके कारण पूरी बिजली की व्यवस्था ध्वस्त हो जाती है प्रशासन अपना लाखों का नुकसान के बाद भी कोई सख्त कदम नहीं उठाता है ट्रांसफॉर्मर के आसपास लगे पेड़ पौधों से कई बार ट्रांसफर में आग लग चुकी है पर प्रशासन ने अभी तक कोई ऐसा कदम नहीं उठाया जिससे उनकी व्यवस्था में सुधार हो सके सुहाग महल के पास रखे ट्रांसफार्मर के आसपास इतने पेड़ पौधे लगे कि ट्रांसफर दिखता ही नहीं इस ट्रांसफार्मर से कई बार हादसे हो चुके हैं और इंसान और जानवर झुलस चुके पर प्रशासन ने अभी तक अपनी डगमगाए हुई व्यवस्था को नहीं सुधारा जाये।

इंसेट—
इंसान और जानवरों की जिंदगी से खिलवाड़
उर शई। बिना जाली के रखे ट्रांसफार्मरों से अभी तक कई बड़े हादसे हो जाते हैं और कई गायों की जान जा चुकी है पर प्रशासन ने ना तो मामले को संज्ञान लिया और ना ही अपनी दोस्त व्यवस्थाओं को ठीक कराने के लिए कोई कदम उठाया आखिर कब तक खुले ट्रांसफार्मर से गाय मरती रहेंगी और लोग झुलसते रहेंगे शहर के कोच बस स्टैंड मैकेनिक नगर चौराहे पर रखे ट्रांसफार्मर में जाली की कोई व्यवस्था नहीं है इन ट्रांसफार्मरों से कई बार बड़े हादसे हो चुके हैं और कई जानवर मर चुके हैं पर प्रशासन में अभी तक अपनी ध्वस्त व्यवस्था को सुधारने के लिए कोई कदम नहीं उठाया शहर के मुख्य चौराहे कोच बस स्टैंड के पास रखे ट्रांसफार्मर में जाली की कोई व्यवस्था नहीं जिसके कई गाय झुलस चुकी हैं बस अड्डा होने के कारण यही सबसे ज्यादा लोगों का आना जाना रहता है और कभी भी खुले ट्रांसफार्मर से बड़ा हादसा हो सकता है पर प्रशासन को क्या करना उसे कोई परवाह ही नही है।

इंसेट—
लोगों में भी दिखा काफी आक्रोश
उरई। जीतू कुशवाह दीपक बच्चू राजू हिमांशु राकेश देवेंद्र ने कहा कि विद्युत विभाग के कर्मचारी से लेकर बड़े अधिकारी सब लापरवाही की चादर ओढ़े है आम जनता और जानवरों के साथ क्या हो रहा है इन्हें कुछ पता ही नहीं खुले में रखे ट्रांसफार्मर उसे अभी तक कितने बड़े-बड़े हाथ से हो चुके और कई जानवरों की जान गई और कितने लोग झुलस चुके हैं पर विद्युत विभाग के को कुछ पता ही नहीं विभाग को तो बस इतना पता है कि बिजली का बिल कब भेजना और कितना भेजना मोटी मोटी रकम वसूलने में आगे रहता विभाग।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *