उत्तर प्रदेश जालौन

फर्जी दरोगा का संगीन धाराओं में चालान

उरई (जालौन)।(गोविंद सिंह दाऊ):-। जेल चौकी इंचार्ज पर हमला करने वाले फर्जी दरोगा का कोतवाली पुलिस ने शनिवार को संगीन धाराओं में चालान कर दिया। अब पता चला है कि फर्जी दरोगा कानपुर डीआईजी के यहां अपने को तैनात बताकर लोगों पर रौब गालिब करता था और शहर में प्लाटिंग के धंधे में भी इस रुतबे को कैश करा रहा था।
प्रत्यक्षदर्शियों से जो पता चला है उसके मुताबिक इसने अपना ठिकाना शिवा पैलेस के पीछे बना रखा था। जहां माधौगढ़ निवासी एक गुबरैले जी से मिलकर वह प्लाटिंग का काम कर रहा था। जिसमें काफी झांसेबाजी करता था और विरोध करने पर खुद को कानपुर डीआईजी कार्यालय में तैनात दरोगा शैलेंद्र सिंह परिहार बताकर उन्हें डरा देता था जिससे लोग खामोश हो जाते थे।
लोगों की माने तो इसने सैक्स रैकेट भी चला रखा था। जिसमें कई बदनाम महिलाएं और लड़कियां शामिल हैं। कुछ को इसने साजिशन फंसाकर ब्लैकमेलिंग के जरिए अपने इशारे पर नाचने को मजबूर कर रखा था। इलाके के लोग जब इससे बहुत परेशान हो गये तो उन्होंने जेल चौकी में संपर्क किया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शुक्रवार को इसी सुरागरशी के आधार पर जेल चौकी इंचार्ज मो. आरिफ हमराह सिपाही शकील के साथ शिवा पैलेस के पीछे वाले इलाके में पहुंचे थे। जहां उन्होंने फर्जी दरोगा जितेंद्र सिंह परिहार की मोटर साइकिल को जैसे ही रोका वह हमलावर हो गया। उसने आरिफ और सिपाही शकील को न केवल पटक लिया बल्कि मारपीट करते हुए आरिफ की सर्विस रिवाल्वर भी छीनने की कोशिश की। इस बीच मोहल्ले के लोग दौड़ पड़े तो जितेंद्र उनसे भी उलझ गया। लेकिन यह दुस्साहस उसे भारी पड़ा। भीड़ ने मारते-मारते उसे अधमरा कर दिया। बाद में पुलिस उसे कोतवाली ले आई।
जितेंद्र परिहार निवासी जगम्मनपुर थाना रामपुरा का चालान आज हत्या के प्रयास, जालसाजी, एनडीपीएस एक्ट और आम्र्स एक्ट के तहत कर दिया है।

Leave a Reply