उत्तर प्रदेश जालौन

डकोर कोतवाल पर लगाया खनन माफियाआे को संरक्षण देने का आरोप

0 भगवती मानव कल्याण संगठन ने मुख्यमंत्री को भेजा शिकायती पत्र
0 खनन माफियाआे के रास्ते मे रोड़ा बने किसान को फर्जी मुठभेड़ मे जेल भेजने का आरोप

उरर्ई (जालौन)(.गोविंद सिंह दाऊ):- ।जिले मे बालू खनन शुरू होते ही माफियाआे की दबंगई व पुलिस से उनकी मिली भगत का दौर भी शुरू हो गया है। बीते दिनो डकोर क्षेत्र मे कुछ लोगो को पुलिस मुठभेड़ मे जेल भेजने के मामले मे डकोर कोतवाल विनोद कुमार मिश्रा सुर्खियों मे आ गये है। एक समाजसेवी संगठन ने उन पर खनन माफियाआे को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुये मुख्यमंत्री को भेजे शिकायती पत्र मे कहा है कि वह खनन माफियाआे के प्रभाव मे काम कर रहे है। बीते दिनो खनन माफियाआे का विरोध करने पर उन्होने संगठन के कुछ लोगो को फर्जी मुठभेड मामले मे जेल भेज दिया। संगठन ने पूरे मामले की जांच कराने की मांग की है।
गौरतलब है कि बीते दिनो डकोर कोतवाली पुलिस ने मुठभेड़ मामले मे कोतवाली क्षेत्र के ग्राम एेर निवासी जुझार सिंह राजपूत पुत्र देशराज राजपूत उनके भाई लाल सिंह राजपूत व सहयोगी कुलदीप अहिरवार को जेल भेजा था। इस मामले मे भगवती मानव कल्याण संगठन ने डकोर कोतवाल विनोद कुमार मिश्रा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। संगठन के पदाधिकारी सुघर सिंह, राजू तिवारी आदि ने मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव सहित अन्य उच्चाधिकारियो को भेजे शिकायती पत्र मे आरोप लगाया है कि जेल भेजे गये लोग उनके संगठन के सदस्य थे और वह किसानी के साथ समाजसेवा का काम भी करते है। उन्होने कहा कि उक्त लोगो के खेत बेतवा नदी किनारे है। जिस पर वह फसल उगाते है। अवैध खनन के लिये बालू माफिया उनके खेतो से ट्रक निकलवाना चाह रहे थे जिसका जुझार सिह आदि विरोध कर रहे थे। जब वह बालू माफियाआे के आगे नही झुके तो बालू माफियाआे ने डकोर कोतवाली पुलिस का सहारा लिया और पुलिस के सहयोग से फर्जी मुठभेड़ के मामले मे उन्हे जेल भेज दिया। अब बालू माफिया उनके खेतो से जबरन ट्रक निकलवा रहे है। आरेाप यह भी है कि उक्त लोगो को हिरासत मे लेने के बाद पुलिस ने बेदर्दी से उनकी पिटाई की। जिससे वह ठीक तरह खड़े होने की स्थिति मे नही रहे। संगठन का आरोप है कि डकोर कोतवाल विनोद कुमार मिश्रा बालू माफियाआे के प्रभाव मे काम कर रहे है। क्षेत्र मे होने वाले अवैध खनन मे उनका भी सहयोग है। जिसके चलते डकोर क्षेत्र मे बालू का अवैध खनन जोरो पर है। अवैध बालू खनन मे रोड़ा अटकाने वाले लोगो को पुलिस जेल भेजने का काम कर रही है। संगठन के पदाधिकारियो ने मांग की है कि उक्त मामले की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषी पुलिस कर्मियो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाये।

Leave a Reply